अमेरिका ने ताइवान को बेचें हथियार तो होगी जवाबी कार्रवाई: चीन

गुरुवार देर रात जारी किए गए बयान में चीन और अमेरिका और उनके सशस्त्र बलों के बीच संबंध और खराब होने या इससे जुड़े गंभीर नतीजों से बचने तथा ताइवान स्ट्रेट

विदेश: चीन का बयान कहा अगर अमेरिका ताइवान को एक अरब डॉलर से अधिक की उन्नत हथियार की बिक्री करने की प्रक्रिया शुरू करता है, तो वह जवाबी कार्रवाई कर सकता है. चीन के रक्षा मंत्रालय के बयान में कार्रवाई को लेकर स्पष्ट बात नहीं कही गई, लेकिन इस घटनाक्रम से चीन और अमेरिका के बीच संबंधों में और गिरावट का संकेत है, जो पिछले कई दशकों में सबसे खराब दौर में है.

गुरुवार देर रात जारी किए गए बयान में चीन और अमेरिका और उनके सशस्त्र बलों के बीच संबंध और खराब होने या इससे जुड़े गंभीर नतीजों से बचने तथा ताइवान स्ट्रेट में शांति और स्थिरता के लिए अमेरिका और ताइवान के सैन्य अधिकारियों के बीच बिक्री की प्रक्रिया और इससे संबंधित सभी बातचीत को रद्द करने की मांग की गई.

बयान में कहा गया है कि अगर ऐसा नहीं हो पाया, तो चीनी पक्ष पूरी तरह से जवाबी कार्रवाई के लिए मजबूर हो जाएगा. अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को घोषणा की कि उसने ताइवान को उसकी रक्षा क्षमताओं को मजबूत करने के लिए 135 लक्षित जमीनी युद्धक मिसाइलों, संबंधित उपकरणों और प्रशिक्षण संबंधी चीजों की बिक्री को हरी झंडी दे दी है। विभाग ने एक बयान में कहा था है कि यह सौदा एक अरब डॉलर से अधिक का है. मिसाइलें बोइंग ने बनाई हैं.

यह भी पढ़े: CM अशाेक गहलोत से जनसम्पर्क सेवा कर्मियों को वेतन कटौती से अलग रखने की मांग

Related Articles