भाजपा ने रख दी जीत की नींव, कांग्रेस के इरादों पर फिर जाएगा पानी…

0

अहमदाबाद: भाजपा और कांग्रेस दोनों राजनीतिक पार्टियां गुजरात में इसी वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी हैं। इन्ही तैयारियों के चलते ये पार्टियां अपनी अपनी रणनीति अपना रही हैं। अभी बीते दिनों जहां कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सूबे की यात्रा कर प्रदेश की जनता के बीच पैठ बनाने की कोशिश की थी वहीं अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी इसी काम में लग गए हैं। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल किया है।

अमित शाह ने रविवार को गुजरात के लोगों से अपील करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राज्य के राजनीतिक परिदृश्य से अनुपस्थित न समझें और कहा कि अब वह ऐसी जगह हैं जहां से राज्य के विकास के लिए काफी कुछ कर सकते हैं।

शाह ने कहा कि गुजरात से नरेंद्र मोदी को अनुपस्थित समझे जाने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने राज्य को विकास पथ पर पहुंचाया और प्रधानमंत्री रहते हुए वह राज्य के लिए ज्यादा कर रहे हैं। कौन ज्यादा शक्तिशाली होता है, मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री?

शाह राज्य में 100 विभिन्न जगहों पर टॉउन हॉल में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए युवाओं के प्रश्न का जवाब दे रहे थे। भाजपा अध्यक्ष ने कार्यक्रम ‘अधिखम गुजरात (कृतसंकल्प गुजरात)’ के अंतर्गत सोशल मीडिया के द्वारा एक लाख युवाओं को संबोधित करने का दावा किया।

यह भी पढ़ें: अखाड़ा परिषद का ऐलान- अब बाबा बनने के लिए देना होगा टेस्ट, कई बाबाओं को बता दिया फर्जी

उन्होंने कहा कि आज मैं राजनीतिज्ञ नहीं हूं, बल्कि एक प्रोफेसर हूं। उन्होंने दावा किया कि इस दौरान भाजपा से अपेक्षा और उम्मीद के बारे में 3।5 लाख प्रश्न पूछे गए। लोगों से भरे दीन दयाल हॉल में एक प्रश्नकर्ता ने पूछा कि राजनीतिक रूप से हम नरेंद्र मोदी की अनुपस्थिति को गुजरात में महसूस करते हैं और उनके जाने के बाद यहां परिस्थतियां अब वैसी नहीं है। पार्टी अब क्या करना चाहती है?

शाह ने जवाब देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के तौर पर उन्होंने गुजरात के विकास के लिए दिल्ली में सत्ता हासिल करने के बाद तत्काल फैसले लिए जिसके अंतर्गत नर्मदा बांध की ऊंचाई बढ़ाने का फैसला लिया गया और अब वह सुनुश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि बांध पर रेडियल गेट बनाए जाएं। उन्होंने गुजरात के हित को दिल और दिमाग में रखकर पूरे भारत का दौरा किया है। मोदी यहां बहुत ज्यादा उपस्थित हैं।

नोटबंदी को लेकर सरकारी ढांचे में निचले स्तर पर भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के सवाल पर शाह ने कहा कि हम इस संबंध में काफी कुछ कर रहे हैं। इसका एक उदाहरण गरीबों को उनके खातों में सीधे सब्सिडी का पैसा भेजने का है जिसके अंतर्गत हमने लगभग 59,000 करोड़ रुपये की राशि बचाई है। हमने 59,000 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार को रोका है। किसी भी मीडिया या पत्रकार ने इस भ्रष्टाचार को उजागर नहीं किया क्योंकि यह प्रत्यक्ष नहीं है।

loading...
शेयर करें