IPL
IPL

अमित शाह को गृह मंत्री पद पर बने रहने का कोई हक़ नहीं: कांग्रेस

उनका कहना था कि शाह बहुत गैर जिम्मेदार गृह मंत्री ( home Minister ) हैं। और देश के लिए शहादत देने वाले वीर जवानों के प्रति असंवेदनशील होकर काम करते हैं।

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा है। कांग्रेस ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में देश के जवान शहीद होते हैं। लेकिन केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Union Home Minister Amit Shah ) चुनाव प्रचार में व्यस्त रहते हैं। और 24 घंटे तक इस घटना को लेकर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करते तो क्या ऐसे असंवेदनशील व्यक्ति को गृह मंत्री के पद पर रहने का अधिकार है।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ( Randeep Singh Surjewala, head of Congress Communications Department ) ने सोमवार को यहाँ संवाददता सम्मेलन में पत्रकारों के सवाल पर कहा कि छत्तीसगढ़ में हुए हमले को लेकर गृह मंत्री ने जिस तरह से प्रतिक्रया व्यक्त की है वह उनके असंवेदनशील और निष्ठुर होने का प्रमाण है। उनका कहना था कि शाह बहुत गैर जिम्मेदार गृह मंत्री ( home Minister ) हैं। और देश के लिए शहादत देने वाले वीर जवानों के प्रति असंवेदनशील होकर काम करते हैं।

10 साल में 3 हजार से ज्यादा नक्सली हमले हुए, 489 जवान हुए शहीद More than 3  thousand Naxalite attacks during 10 years 489 soldiers martyred in  Chhattisgarh - News Nation

उन्होंने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि नक्सली हमले में जवानों के शहीद होने को लेकर 24 घंटे तक शाह की तरफ से कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की गयी। हमारे जवान नक्सलवादियों से लड़कर जब देश के लिए शहादत दे रहे थे तो गृह मंत्री चुनाव प्रचार में व्यस्त थे। वह तमिलनाडु ( Tamil Nadu ) में रोड शो और जन सभा कर रहे थे। उसके बाद केरल ( Kerala ) गये और वहां जन सभाएं तथा रोड शो किये। प्रवक्ता ने कहा कि देश के गृह मंत्री को घटना की खबर सुनने के तत्काल बाद छत्तीसगढ़ ( Chhattisgarh ) जाना चाहिए था।

गृह मंत्री के पद की गरिमा का खयाल किए बिना

लेकिन उन्होंने गृह मंत्री के पद की गरिमा का खयाल किए बिना अपना चुनाव प्रचार जारी रखा और अगले दिन यानी चार अप्रैल को भी चुनाव रैली को संबोधित करने के लिए असम गये।  उन्होंने कहा कि जब से शाह ने देश के गृह मंत्री का पदभार संभाला है, उसके बाद नक्सली हमलों की बाढ़ आयी है। उनके गृह मंत्री बनने के बाद से देश के विभिन्न हिस्सों में 5216 नक्सली हमले हुए हैं। जिनमें 1400 से ज्यादा लोग मारे गये हैं जिनमें हमारे पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवान भी शामिल हैं।

यह भी पढ़े: Shoaib Akhtar ने Fakhar Zaman को OUT करने का तरीका बताया गलत, Quinton de Cock पर उठाए सवाल

Related Articles

Back to top button