मैं ऐसा वजीर हूं जो लोगों के हिसाब से चलता हूं

नई दिल्ली| सालों से हर रविवार मेगास्टार अमिताभ बच्चन के घर के बाहर बड़ी संख्या में प्रशंसक उनकी एक झलक पाने के लिए खड़े होते हैं। ट्विटर पर उनके सबसे अधिक फॉलोअर्स हैं और इनके ब्लॉग पढ़ने वालों की भी कोई गिनती नहीं। बॉलीवुड के शहंशाह जहां भी जाते हैं, उनके इर्द-गिर्द प्रशंसकों का हुजूम उमड़ पड़ता है। अमिताभ का कहना है कि प्रशंसक एक कलाकार के करियर सबसे ‘अहम’ हिस्सा होते हैं।

amitabh-bachchan-wazir-759

फिल्म जगत में चार दशक से अपने अभिनय का जादू बिखेर रहे महानायक ने प्रशंसकों के साथ जुड़े कई अनुभवों को साझा किया। उन्होंने बताया कि कैसे अगर वह किसी विमान में यात्रा करते हैं, तो उनके प्रशंसक हैरान और खुश हो जाते हैं और उनके साथ सेल्फी लेते हैं तथा अपनी खुशी जाहिर करते हैं।

यह भी पढ़ें – केजरीवाल बोले, अपने ‘वजीर’ पर है गर्व

प्रशंसकों से सम्‍मान पाना और देना जरूरी

विश्वभर में लोकप्रिय बॉलीवुड अभिनेता ने एक साक्षात्कार में  बताया, “मुझे लगता है कि एक हस्ती होने का दावा करने वाले व्यक्ति के साथ ऐसा होना स्वाभाविक है। इसमें कुछ भी गलत नहीं है। एक कलाकार के लिए प्रशंसकों की दिलचस्पी जरूरी है। प्रशंसक ही हमें एक हस्ती बनाते हैं। उनका आदर पाना और उन्हें आदर देना न्यायोचित है।”

स्‍कूटर चलाना बहुत शानदार

अमिताभ को ‘पीकू’ में साइकिल चलाते हुए देखा गया था और आगामी फिल्म ‘टीई3एन’ में उन्हें स्कूटर चलाते देखा जाएगा। फिल्मों में अपनी ड्राइविंग का कौशल दिखाने वाले अभिनेता से जब इस संबंध में उनके सबसे बेहतरीन स्मृति के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, “फिल्म जगत में बिताए करियर के 45 साल उनके लिए सबसे शानदार ड्राइव रही है।”

हर तरह का किरदार निभाया

‘आनंद’, ‘अग्निपथ’, ‘नमक हराम’, ‘डॉन’, ‘हम’, ‘जंजीर’ जैसी फिल्मों में निभाए दमदार किरदार ने उन्हें ‘एंग्री यंग मैन’ का खिताब दिया, लेकिन फिल्म ‘पा’ में 12 साल के ऑरो, ‘भूतनाथ रिटर्स’ में एक हंसमुख भूत, ‘शमिताभ’ में विफल और शराबी अभिनेता और ‘पीकू’ में क्रोधी पिता का किरदार निभाकर उन्होंने अपनी प्रतिभा का एक नया अंदाज बयां किया।  इन फिल्मों में निभाए बेहतरीन किरदारों के बल पर उन्होंने साबित कर दिया कि ढलती उम्र के साथ उनकी प्रतिभा फीकी नहीं पड़ी, बल्कि और निखरी है।

कैमरे के साथ अनुभव में कोई बदलाव नहीं

दिवंगत कवि हरिवंश रॉय बच्चन और तेजी बच्चन के सुपुत्र अमिताभ ने बताया, “इस उम्र में मेरा यही सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है और करियर के इस समय पर मिलने वाले काम के लिए मुझे आभारी होना चाहिए।” तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके अभिनेता का कहना है उनका कैमरे के साथ जो अनुभव है, उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है।

आगामी फिल्म ‘वजीर’ में अमिताभ ने व्हीलचेयर पर आश्रित व्यक्ति का किरदार निभाया है। अपने किरदार के बारे में उन्होंने कहा, “मुझे अपने हाथों को लेकर ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी, लेकिन सच में पहली बार ऐसा किरदार निभाने का अनुभव बहुत बेहतरीन अनुभव रहा।”

फिल्म ‘वजीर’ शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है और इस फिल्म में अमिताभ ने सह-कलाकार फरहान अख्तर के साथ ‘अतरंगी यारी’ गीत में अपनी आवाज दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button