Amrit Mahotsav: ‘राजधानी में अमृत वर्षा भी हुई और वरुण देव ने आशीर्वाद भी दिया’

साल 2022, 15 अगस्त को भारत देश के आजादी को 75 साल पूरे हो रहें है, इस अवसर को यादगार बनाने के लिए देश के 75 स्थानों पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाने की घोषणा

नई दिल्ली: अगले साल 2022, 15 अगस्त (Independence Day) को भारत देश के आजादी को 75 साल पूरे हो रहें है। इसके साथ ही महात्मा गांधी की ऐतिहासिक ‘दांडी यात्रा’ (Dandi Yatra) को 91 साल पूरे हो गए हैं। इस अवसर को यादगार बनाने के लिए केंद्र सरकार ने देश भर में अभी से ही 12 मार्च 2021 से लेकर 15 अगस्त 2022 तक देश के 75 स्थानों पर आजादी का अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav) मनाने की घोषणा की है। 

बापू को श्रद्धांजलि

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) गुजरात के अहमदाबाद में स्थित साबरमती आश्रम (Sabarmati Ashram) से अमृत महोत्सव महोत्सव की शुरूआत किए हैं। इससे पहले PM साबरमती आश्रम में पहुंचकर बापू को श्रद्धांजलि अर्पित की। 75 वर्षों की उपलब्धियां पीएम मोदी ने कहा कि, आजादी के अमृत महोत्सव का आयोजन हमारे 75 वर्षों की उपलब्धियों को दुनिया के सामने रखेगा और अगले 25 वर्षों के लिए हमें एक रूपरेखा, एक संकल्प भी देगा।

2047 में जब देश आजादी की शताब्दी मनाएगा, तब आजादी के बाद का यह कालखंड और आजादी की जंग हमें प्रेरणा देगी। अमृत महोत्सव की इस यात्रा में एक-एक कदम उठाते हुए आज देश यहां तक पहुंचा है। हर किसी के योगदान को स्वीकार करके, उसका स्वागत और सम्मान करके चलने से ही देश आगे बढ़ता है और उसी मंत्र को लेकर हम चलना चाहते हैं।

राजधानी में अमृत वर्षा

अहमदाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बोला, अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav) के प्रारंभ होने से पहले आज देश की राजधानी में अमृत वर्षा भी हुई और वरुण देव ने आशीर्वाद भी दिया। ये हम सभी का सौभाग्य है कि हम आजाद भारत में इस ऐतिहासिक कालखंड के साक्षी बन रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज आजादी के अमृत महोत्सव का प्रारंभ हो रहा है। अमृत महोत्सव 15 अगस्त, 2022 से 75 सप्ताह पूर्व आज प्रारंभ हुआ है और 15 अगस्त, 2023 तक चलेगा। आजादी के 75 साल का ये अवसर वर्तमान पीढ़ी को एक अमृत की तरह प्राप्त होगा। एक ऐसा अमृत जो हमें प्रतिपल देश के लिए जीने, कुछ करने के लिए प्रेरित करेगा।

भारत का गौरवशाली इतिहास

पीएम मोदी ने कहा 12 मार्च भारत के गौरवशाली इतिहास में एक विशेष दिन है। 1930 में उस दिन, महात्मा गांधी के नेतृत्व में प्रतिष्ठित ‘दांडी मार्च’ शुरू हुआ। हम साबरमती आश्रम से हम आजादी के 75 साल बाद चिह्नित करने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव शुरू करेंगी।

यह भी पढ़ेOMG! Tanushree Dutta का नया अवतार देखकर रह जाएंगे दंग, ग्लैमरस लुक में कुछ यूं लगाए ठुमके

Related Articles