भारत के हर मसले में दखल देने वाला UN अफ़ग़ान मुद्दे पर खामोश क्यों : Saleh

काबुल : अफगानिस्तान में तालिबानी शासन के बाद वहां के हालात दिनों ब दिन बिगड़ते जा रहे हैं। मासूम लोग खौफ के साए में जीने के लिए मजबूर हैं। इस बीच अफगानिस्तान के कार्यवाहक राष्ट्रपति Amrullah Saleh ने पंजशीर से तालिबानी संकट पर संयुक्त राष्ट्र के नाम एक खत लिखा है। इस कड़ी में खत के मुताबिक सालेह ने संयुक्त राष्ट्र सहित वैश्विक नेताओं से मदद की गुहार लगाई है।

Amrullah Saleh कर रहे हैं रेजिस्टेंस को लीड

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें पंजशीर में तालिबान और रेजिस्टेंस फोर्सेज के बीच कड़ी जंग देखने को मिल रही है। संयुक्त राष्ट्र को लिखी चिट्ठी में सालेह ने कहा है कि पंजशीर में इस वक़्त  ढ़ाई लाख लोग मौजूद हैं। इन लोगों की हिफाज़त की ज़िम्मेदारी संयुक्त राष्ट्र की है, जो इस मसले में आँख मूंदे हुए है।

इस कड़ी में तालिबान से लड़ रहे लड़ाकों ने एक बयान जारी कर कहा की इलाके में रसद की कटौती कर दी गई है और तालिबान इलाके में मेडिकल हेल्प भी नहीं आने दे रहा। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें इस रेजिस्टेंस का नेतृत्व सालेह और अहमद मसूद द्वारा किया जा रहा है।

यह भी पढ़े : राकेश का ऐलान, दिल्ली की सीमाओं पर किसान रखेंगे कब्जा, चाहे हमारी बनवा दो कब्रिस्तान

 

Related Articles