नहीं थम रहा एएमयू विवाद, अब पेशाबघरों में लगाए गए जिन्ना के पोस्टर

लखनऊ। जिन्ना की तस्वीर का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है। हिन्दूवादि संगठनों ने ठान ही ली है कि एएमयू कार्यालय से वह जिन्ना की तस्वीर उतार कर रहेंगे। हाल ही में ऑल इंडिया मुस्लिम महासंघ के राष्ट्रीय प्रमुख फरहत अली खान ने अपने एक बयान में बड़ा ऐलान किया था।

उन्होंने कहा था कि जो जिन्ना की तस्वीर उतारेगा वह उसे 1 लाख रुपए का इनाम देंगे। इसके बाद खबर आ रही है कि देव समाज कॉलेज के कुछ छात्रों ने हद पार करते हुए जिन्ना की तस्वीर को पेशाबघरों में लगाना शुरु कर दिया है।

छात्रों ने ये हरकत करते हुए कहा है कि जो शख्स भारत के टुकड़े करें उसके लिए सही जगह बाथरुम ही है। इसी के साथ पेशाबघरों में लगाए गए पोस्टर में भी यही चीज़ लिखी गई है कि जिन्ना की जगह किसी शैक्षिक संस्थान में नहीं बल्कि बाथरुम जैसी जगह में है। मामले में कॉलेज के प्रिसंपिल ने सफाई देते हुए कहा कि अराजक तत्वों ने ऐसा किया जैसे ही कॉलेज प्रशासन को इस बात की जानकारी हुई उन्होंने पोस्टर तुरंत हटवा दिया।

साथ ही एएमयू के संस्थापक सैयद अहमद खान की तस्वीर पीडब्लयूडी गेस्ट हाउस से गायब हो गई। इन दोनों घटनाओं की रिपोर्ट डीएम ने एसडीएम से मांगी है। साथ ही कहा है तस्वीरों पर फैसला सरकार लेती है।

राष्ट्रीय प्रमुख फरहत अली खान के साथ साथ शिवसेना की स्थानीय बॉडी ने भी इनाम की घोषणा की है। जहां मंत्री ने उन्हें 1 लाख रुपए का इनाम कहा है वहीं शिवसेना ने पांच लाख रुपए के इनाम की घोषणा की है।

Related Articles