आईएसआई के हनी ट्रैप में फंसकर एयरफोर्स का अफसर बना देशद्रोही

isi-agent-s_650_122915093814नई दिल्ली। बीएसएफ और आर्मी के बाद अब एयरफोर्स में भी आईएसआई ने अपनी सेंध लगा दी है। वो भी साइबर हनी ट्रैप के जरिये। दिल्ली पुलिस ने जासूसी के आरोप में एयरफोर्स के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। कर्मचारी को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

ये भी पढ़ें- भारतीय सेना में #ISI के लिए जासूसी कर रहे दो अफसर बेनकाब

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने वालों के साथ गोपनीय सूचनाएं साझा करने के आरोप में केके रंजीत नामक इस शख्स को दिल्ली पुलिस ने पंजाब से गिरफ्तार किया है। इसको पाकिस्तानी जासूसों ने हनी ट्रैप के जरिए फंसाया था।

ये भी पढ़ें- ISI से रिश्‍तों पर दार्जिलिंग से सेना का जवान गिरफ्तार

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (क्राइम) रवींद्र यादव ने बताया कि रंजीत भारतीय वायुसेना में प्रमुख विमानकर्मी था। उसे हाल ही में बर्खास्त किया गया था। वह मूलरूप से केरल के मलाप्पुरम का रहने वाला है। 2010 में वह वायुसेना से जुड़ा था। उसकी गिरफ्तारी से पुलिस को हनी ट्रैप के जरिए जाल में फंसाने वाले एक मॉड्यूल का पता लगा। इसे सीमापार के खुफिया एजेंसी का सहयोग मिलता था।

ये लोग सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर महिलाओं के नाम से फर्जी एकाउंट खोलते और उनसे दोस्ती करके जासूसी के लिए फंसा लेते। इस मामले में रंजीत को मैकनाट डैम नामक एंकाउट चलाने वाली महिला ने अपने जाल में फंसा लिया था। उसने बताया था कि वह ब्रिटेन में मीडिया में काम करती है। पैसे का लालच देकर उसने लेख लिखने के नाम पर वायुसेना से जुड़ी सूचनाएं मांगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button