पीएम मोदी के एक सांसद और सीएम योगी के एक मंत्री में 13 साल से लटके पुल के उद्घाटन पर ठनी

कानपूर: गणतंत्र दिवस पर कैबिनेट मंत्री सतीश महाना द्वारा सीओडी पुल की दूसरी लेन के लोकार्पण पर सांसद सत्यदेव पचौरी के पेच के बाद मंगलवार को बैरिकेडिंग लगाकर यातायात बंद कर दिया गया। लोक निर्माण विभाग (पीडब्लूडी) के अफसरों ने सुरक्षा कारणों से यातायात बंद करने की बात कही है। लोकार्पण के बाद सोमवार को सांसद ने काम अधूरा बताते हुए कहा था कि मंत्री ने गरिमा का ख्याल नहीं रखा। इसके अगले ही दिन यातायात बंद करने को दोनों नेताओं की खींचतान से जोड़कर देखा जा रहा है। उधर, अफसरों ने कहा है कि अब दूसरी लेन पर विधिवत उद्घाटन के बाद ही यातायात शुरू किया जाएगा।

सीओडी पुल की एक लेन पर आवागमन करीब डेढ़ साल से चल रहा है। दूसरी लेन पर निर्माण कार्य में कई बार रुकावटें आने की वजह से यह राजनीति का शिकार हो गई। इसके निर्माण कार्यों को लेकर सांसद पचौरी और कैबिनेट मंत्री महाना कई बार अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक और स्थलीय निरीक्षण भी कर चुके हैं।

इस बीच ही पुल निर्माण का काम पूरा कराने का श्रेय लेने के लिए दोनों नेताओं ने अपने-अपने तरीके से इसके उद्घाटन की योजना बनानी शुरू कर दी थी। सांसद पचौरी केंद्र सरकार की योजना के अनुरूप उद्घाटन प्रक्रिया में लगे थे। उनसे पहले मंत्री महाना ने अपने समर्थकों के साथ इस पुल पर आवागमन शुरू करा दिया। पचौरी को यह बात खटक गई। दोनों नेताओं ने उद्घाटन करने और नहीं करने के अपने-अपने तर्क दिए। मीडिया में आने के बाद दोनों के बीच चल रही तनातनी आम हो गई।

सीओडी पुल के मामले में महाना और पचौरी के बीच खींचतान मंगलवार को दिनभर सरकारी मशीनरी और भाजपाइयों के बीच चर्चा में रही। बताया जा रहा है कि उच्च अधिकारियों की तरफ से पीडब्लूडी से पुल की वर्तमान रिपोर्ट तत्काल देने को कहा गया है। पीडब्लूडी की रिपोर्ट में कहा गया है कि सुरक्षा की दृष्टि से अभी इस पुल पर काम होना बाकी है।

Related Articles