Auto चलाने को मजबूर इस बॉक्सर के मसीहा बने आनंद महिंद्रा

देश में खेल की दुनिया में अपना मुकाम बन चुके कई खिलाडी आज भी संघर्षों से भरा जीवन जी रहे हैं। जिन्होंने अपनी लगन और मेहनत से शोहरत तो खूब कमाई पर दौलत न कमा पाए। इसी कड़ी में हम आपको नेशनल लेवल के बॉक्सर रह चुके एक ऐसे शख्स से मिलाने जा रहे हैं जो आज Auto चलाने को मजबूर हैं।

कभी नेशन की शान थे, आज हैं Auto चालक

यह कहानी है आबिद खान की जो नेशनल लेवल के बॉक्सर हैं। उन्होंने पांच साल तक बतौर आर्मी बॉक्सिंग टीम कोच भी काम किया है।बदहाली की धूल में छुपे इस होनहार का हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें आबिद के नेशनल लेवल के बॉक्सर से लेकर ऑटो ड्राइवर तक के सफर के बारे में बताया जा रहा था।

आम लोगों की तरह यह वायरल वीडियो जब जान माने उद्योगपति और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा के पास पहुँच तो उन्होंने फ़ौरन आबिद की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा दिए। उन्होंने इस वीडियो को रिट्वीट करते हुए कहा है कि आबिद की स्टोरी बताने के लिए धन्यवाद। मैं उनकी सराहना करता हूं कि वो कोई मदद नहीं मांग रहे हैं। फिर भी मैं लोगों को चैरिटी ऑफर करने के बजाय उनकी प्रतिभा और जुनून में निवेश करना पसंद करता हूं। कृपया मुझे बताएं कि मैं कैसे उनकी स्टार्टअप बॉक्सिग एकेडमी में निवेश कर सकता हूं और उसे सपोर्ट कर सकता हूं।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार के Central minister ने बेड के लिए ट्वीट करके मांगी मदद, अब दी ये सफाई

Related Articles

Back to top button