गुजरात की पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल को मिला सब्र का फल, पीएम मोदी ने इस बड़े पद पर बिठा दिया

0

भोपाल। गुजरात की पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल ने अपना कार्यकाल खत्म होने से पहले ही सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद ये खबरें भी आ रही थीं कि आनंदी बेन पार्टी से नाराज चल रही हैं। लेकिन ये खबरें केवल अफवाह साबित हुईं और गुजरात चुनाव में उन्होंने चुनाव तो नहीं लड़ा लेकिन पार्टी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रही और बीजेपी को जीत दिलवाने में मदद की। अब आनंदी बेन पटेल मध्य प्रदेश की 27th गवर्नर बनाई गईं हैं।

राष्ट्रपति भवन से नोटिफिकेशन जारी किया गया

इस बारे में शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन से नोटिफिकेशन जारी किया गया। आनंदी बेन गुजरात की मोदी सरकार में कई विभागों की कैबिनेट मंत्री रह चुकी हैं। उन्हें नरेंद्र मोदी के बाद गुजरात में सबसे बड़े रिफार्मर के तौर पर जाना जाता है। बता दें कि सितंबर में, 2016 में रामनरेश यादव का टेन्योर खत्म होने के बाद कोहली को मध्य प्रदेश के एडिशनल गवर्नर का चार्ज सौंपा गया था। वह ओम प्रकाश कोहली की जगह लेंगी।

आनंदीबेन पटेल को राज्यपाल पद की शपथ दिलाई जाएगी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जल्द ही आनंदीबेन पटेल को राज्यपाल पद की शपथ दिलाएंगे। मालूम हो कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद आनंदीबेन पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया था। हालांकि उन्होंने अपने निजी कारणों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। आनंदीबेन के बाद विजय रूपाणी को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया था।

आनंदी बेन को राष्ट्रपति पुरस्कार भी मिल चुका है

आनंदी बेन ने साइंस में ग्रेजुएशन किया और मास्टर डिग्री में गोल्ड मेडल हासिल किया। 1967 में उन्होंने अहमदाबाद के मोहिनीबा कन्या विद्यालय में हायर सेकंडरी स्टूडेंट्स को साइंस-मैथ्स पढ़ाना शुरू किया। बाद में वे इसी स्कूल में प्रिंसिपल भी हो गईं। बेस्ट टीचर के लिए आनंदी बेन को राष्ट्रपति पुरस्कार भी मिल चुका है।

loading...
शेयर करें