अनंत सिंह पटना जेल से नामांकन करने पहुंचे, RJD ने दिया टिकट, पत्नी भी मैदान में

 

अनंत सिंह और पत्नी

पटना: बिहार की राजनीति में कई बाहुबली हैं जिन्होंने अपना स्थान बनाये रखा है लेकिन अनंत सिंह का नाम सबसे ऊपर है. अनंत सिंह एके-47 मामले में जेल में बंद हैं उसके बावजूद भी उनके लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है. अनंत सिंह पटना से नामांकन करने मोकामा पहुंच चुके है. अनंत सिंह पांचवी बार यहां से चुनाव लड़ने जा रहे हैं. देखा जाये तो उनकी पत्नी ने भी बाढ़ से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन किया है.

RJD ने दिया टिकट:

आपको बता दें कि 2015 में अनंत सिंह ने जेडीयू से मतभेद के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ा था. आरजेडी ने उन्हें 2015 में टिकट देने से मना कर दिया था तो वहीं, इस बार आरजेडी ने अनंत सिंह को टिकट दे दिया है और वो मैदान में उतर चुके हैं.

मोकामा विधानसभा सीट में भूमिहार वोटर्स की संख्या अधिक है. खुद इस बात का है कि अनंत सिंह भी इस जाति से आते हैं. आपको बता दें कि मोकामा एक ऐसा इलाका है जहां दो अग्रिम जातियों के बीच कड़ी टक्कर हुआ रहती है. खून तक भी बहा दिया जाता है. अनंत सिंह इस दौरान मोकामा में बाहुबली बनकर उतरे है. 2005 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू ने उन्हें टिकट दिया और राजनीति में आ गए. आपराधिक छवि के बावजूद अनंत सिंह आज तक लगातार जीतते आ रहे हैं. इस क्षेत्र में इनकी लोकप्रियता पहले से ही बरकरार है.

अवैध बरामदगी के मामले में बंद है:

अनंत सिंह फिलहाल पटना जेल में एके-47 की अवैध बरामदगी के मामले में बंद हैं. दरअसल, 2019 में बाढ़ के नदवां स्थित विधायक के पैतृक घर से बरामद एके 47 और दो हैंड ग्रेनेड मिले थे जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था और वो जेल में बंद हैं.

यह भी पढ़े: मोबाइल फोन बनाने के लिए मिली मंजूरी, 5 सालों में बनेंगे 10.5 लाख करोड़ के स्मार्टफोन

Related Articles