पुड्डुचेरी में प्राइवेट यूनिवर्सिटी को स्थापित करने की अनुमति नहीं, अनबझागन ने किया रिक्वेस्ट

पुड्डुचेरी में निजी विश्वविद्यालय की स्थापित करने की अनुमति नहीं, वरिष्ठ नेता ए अनबझागन ने किया आग्रह

पुड्डुचेरी: अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता ए अनबझागन ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से केन्द्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी में निजी विश्वविद्यालयों तथा निजी शिक्षण संस्थानों को स्थापित करने की अनुमति नहीं देने का आग्रह किया है।

पुड्डुचेरी में निजी विश्वविद्यालय

अनबझागन ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ.  हर्षवर्धन और उप राज्यपाल किरण बेदी को एक ज्ञापन भेजकर पुड्डुचेरी में निजी विश्वविद्यालयों तथा शिक्षण संस्थानों को स्थापित करने की अनुमति नहीं देने का आग्रह किया है।

केन्द्र शासित प्रदेश

अन्नाद्रमुक के नेता ने कहा कि पुड्डुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी की अध्यक्षता में 24 अक्टूबर को एक बैठक आयोजित की गयी जिसमें केन्द्र शासित प्रदेश में निजी विश्वविद्यालयों को स्थापित करने की स्वीकृति दी गयी है।

तीन निजी मेडिकल कॉलेज

नेता ने कहा कि यदि निजी विश्वविद्यालयों को स्थापित करने की अनुमति दी जाती है तो पुड्डुचेरी विश्वविद्यालय के अंतर्गत कार्य कर रहे तीन निजी मेडिकल कॉलेज निजी विश्वविद्यालय बन जायेंगे। ऐसी स्थिति में इन कॉलेजों में सरकारी कोटे के तहत एमबीबीएस की आरक्षित सीटें पूरी तरह से बंद कर दी जायेंगी और पुड्डुचेरी के सात निजी मेडिकल कॉलेजों में से सरकार एक भी एमबीबीएस की सीट हासिल नहीं कर पायेगी।

राष्ट्रपति से आग्रह

अन्नाद्रमुक के नेता ने राष्ट्रपति से इसका आग्रह किया है कि वह नारायणसामी सरकार के इस फैसले को स्वीकृति नहीं दे इससे स्थानीय छात्रों के भविष्य पर असर पड़ेगा। साथ ही यह कोशिश की जानी चाहिए की निजी मेडिकल कॉलेजों की 50 प्रतिशत सीटों को सरकारी कोटे के भीतर लाया जाये।

यह भी पढ़े:राजधानी में कोरोना के बढ़ते केसों पर लगाम लगाने के लिए हरकत में आई केंद्र सरकार

यह भी पढ़े:हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज खुद पर कराएंगे कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

Related Articles

Back to top button