अनिल अंबानी पर संकट के बादल, 5281 करोड़ न देने पर चीनी बैंक जब्त करेंगी विदेशी संपत्ति

अनिल अंबानी पर संकट के बादल, 5281 करोड़ न देने पर चीनी बैंक जब्त करेंगे विदेशी संपत्ति

नई दिल्ली: विदेशी कर्ज में डूबे रिलायंसकम्युनिकेशंस के प्रमुख अनिल अंबानी पर फिर से संकट के बादल मडराने लगे हैं। चीन की तीन बैंको के कर्ज़दार अनिल अम्बानी की विदेश में स्थित परिसंपत्तियों को कुर्क करने का बैंकों ने फैसला किया है। इस तीनों बैंकों ने अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनियां 5,276 करोड़ रुपए का कर्ज दिया हुआ है।

तीन बैंकों चाइना डेवलपमेंट बैंक, एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक ऑफ चाइना ऑफ और इंडस्ट्रियल ऐंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना ने निर्णय लिया है कि वो अपने पावर्स का प्रयोग करते हुए अनिल अंबानी पर प्रवर्तन कार्रवाई की ठानी है। साथ दुनिया भर में फैली रिलायंस के प्रमुख अनिल अंबानी की सम्पत्तियों को जब्त करने की कोशिश शुरू करने का फैसला लिया है।

ये भी पढ़ें : अनिल अंबानी पर संकट के बादल, 5281 करोड़ न देने पर चीनी बैंक जब्त करेंगी विदेशी संपत्ति

कुल कितना हैं अनिल अंबानी बकाया –

कुछ महीने पहले 22 मई को ब्रिटेन की अदालत ने अपने आदेश में अनिल अंबानी से कहा था कि वे चीनी बैंकों को 5,276 करोड़ रुपए और 7.04 करोड़ रुपए का लीगल खर्च चीन के तीनों बैंकों को चुकाएं। टैक्स आदि को जोड़ते हुए जून तक यह कर्ज बढ़कर 5281 करोड़ रुपए हो गया था। बता दें कि इस मामले में शुक्रवार को ब्रिटेन में सुनवाई हो रही थी। इस दौरान अनिल अंबानी ने कथित रूप से यह कहा था कि उनके पास कुछ नहीं बचा है और वे अपनी पत्नी के गहने बेचकर गुजारा कर रहे हैं। उन्होंने बैंकों के वकीलों द्वारा बताई गई उनकी लग्ज़री लाइफ का भी खंडन किया।

क्या कहा बैंकों के वकील ने –

चीनी बैंकों के वकील ने शुक्रवार को ब्रिटेन की अदालत को बताया कि अनिल अंबानी बैंकों को कर्ज की एक पाई भी न देने का हर भरसक प्रयास कर रहे हैं। शुक्रवार को अम्बानी के पक्ष जानने के बाद बैंकों ने यह निर्णय लिया है कि रिलायंस प्रमुख अनिल अंबानी के खिलाफ प्रवर्तन कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि अपने अधिकारों का पूरा इस्तेमाल करेंगे और सभी कानूनी विकल्प अनाएंगे।

Related Articles