राकेश का ऐलान, दिल्ली की सीमाओं पर किसान रखेंगे कब्जा, चाहे हमारी बनवा दो कब्रिस्तान

मुजफ्फरनगर: दिल्ली से कुंच करते हुए अब यूपी के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में किसानों ने केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ रविवार को किसानो ने बड़ी महापंचायत की। किसानों का नेतृत्व कर रहे राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। राकेश टिकैत ने कहा कि तीनों कानूनों के खिलाफ आंदोलन तब तक जारी रखेंगे जब तक कि मोदी सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती। सरकार अब चाहे कुछ भी कर ले लेकिन किसान दिल्ली की सीमाओं को नहीं छोड़ेंगे और डटे रहेंगे।

मुजफ्फरनगर के राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में रविवार को आयोजित हुए किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, आज हम संकल्प लेते है कि चाहे जो हो जाये हम दिल्ली की सीमाओं पर धरना स्थल नहीं छोड़ेंगे, भले ही वहां हमारी कब्रिस्तान बनवा दी जाए। अपने हक लिए अगर हम अपनी जान भी देनी पड़ जाए तो हम जान भी दे देंगे, लेकिन जब तक हम जीत नहीं जाते, तब तक धरना स्थल नहीं छोड़ेंगे।

जब केंद्र सरकार हम सभी से बात करना चाहेगी हम बात करने के लिए तैयार है, हम जाएंगे, लेकिन किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। राकेश ने कहा कि आजादी के लिए संघर्ष 90 वर्षों तक जारी रहा और अब लगता है कि यह आंदोलन भी लंबे समय तक जारी रहेगा। अब यह मिशन केवल उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का मिशन नहीं, अब यह मिशन संयुक्त मोर्चे का देश बचाने का मिशन होगा। यह देश बचेगा तो यह संविधान बचेगा।

Related Articles