चीन को एक और बड़ा झटका, ड्रोन निर्माता कंपनी पर लगा प्रतिबंध

वाशिंगटन: अमेरिका ने चीन को एक और बड़ा झटका दिया है। अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने चीन की शीर्ष ड्रोन निर्माता कंपनी डीजेआई के अलावा 59 अन्य वैज्ञानिक और औद्योगिक उत्पादन इकाईयों पर पाबंदी लगाने का ऐलान किया है। अमेरिका ने इन कंपनियों को अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए विदेश नीति के विपरीत करार दिया है।

वाणिज्य मंत्रालय के औद्योगिक और सुरक्षा ब्यूरो की ओर से जारी की गई सूची के मुताबिक चीन की ड्रोन निर्माता कंपनी डीजेआई के अलावा 59 अन्य कंपनियों की गतिविधियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चिंताजनक बताया गया है। जिसे ध्यान में रखकर इन पर प्रतिबंध लगाया गया है।

बीजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, चीन की शीपिंग कंपनी की सहायक अनुसंधान कंपनियों के अलावा नानजिंग एयरोनॉटिक्स एंड एस्ट्रोनॉटिक्स यूनिवर्सिटी और सेमीकंडक्टर निर्माता कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया गया है।

अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि चीन की जिन कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया गया है वे दक्षिण चीन सागर में सैन्य गतिविधियों को बढ़ाने, चीनी सेना के लिए अमेरिकी उत्पादों का इस्तेमाल करने और खुफिया जानकारी चुराने के काम में संलिप्त हैं।

अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने कहा, “अपनी सीमा और बाहरी क्षेत्रों में चीन के धौंस दिखाने और भ्रष्ट आचरण से अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और हमारे सहयोगियों की संप्रभुता के लिए खतरा पैदा हुआ है। चीन का रवैया मानवाधिकारों के उल्लंघन और अल्पसंख्यक धार्मिक समुदायों के लोगों के लिए भी घातक है।”

यह भी पढ़ें: गूगल से कर सकेंगे विस्तारा का टिकट बुक, शुरू हुई सेवा ‘बुक ऑन गूगल’

Related Articles

Back to top button