विपक्षी एकता को लगा बड़ा झटका, ये दिग्गज पार्टी अकेले लड़ेगी चुनाव!

0

रायपुर। छत्तीसगढ़ में इस साल विधानसभा चुनाव 2018 की प्रशासनिक तैयारियां शुरू हो गई हैं। निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू और संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी समीर बिश्नोई की अगुवाई में बुधवार को एक कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें निर्वाचन आयोग नई दिल्ली के सचिव ओ.पी. साहनी और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों भी मौजूद थे। साथ ही ईवीएम और वीवीपैट की तकनीकी जानकारी भी दी गर्ई। यह कार्यशाला सुबह से लेकर देर शाम तक चली।

छत्तीसगढ़ में इस साल के अंत में हो रहे विधानसभा चुनाव नें एक नया मोड़ ले लिया है। चुनावी सरगर्मी बढ़ती नजर आ रही है। छत्तीसगढ़ का चुनावी रण वैसे तो केवल दो प्रमुख पार्टियां कांग्रेस और बीजेपी के बीच माना जा रहा है। लेकिन बताया जा रहा है कि बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने राज्य की सभी 90 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारने का फैसला किया है। प्रदेश के बीएसपी नेतृत्व ने हर सीट पर तीन दावेदार उतारने का फैसला किया है, जिसके हिसाब से 270 लोगों की लिस्ट बनाकर बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती को भेजी गई है।

वहीं पार्टी सूत्रों का कहना है कि छत्तीसगढ़ में बीएसपी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी, इसका अंतिम फैसला बसपा सुप्रीमो मायावती ही लेंगी। साथ ही बीजेपी और कांग्रेस जैसे दोनों राजनीतिक दल अपने-अपने चुनावी तैयारियों में जुट हुए हैं। कांग्रेस प्रदेश में आदिवासियों और युवाओं के बीच अपना जनाधार बढ़ाने में लगी है। तो वहीं सत्तारूढ़ दल बीजेपी नए-नए वादों की झड़ी लगा रही है।

loading...
शेयर करें