एसपी नेता आजम खान पर आचार संहिता उल्लंघन का एक और मामला दर्ज

एसपी नेता और रामपुर से गठबंधन के उम्मीदवार आजम खान पर आचार संहिता उल्लंघन का एक और मामला दर्ज कर लिया गया है. खान ने गुरुवार को बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर शोभायात्रा के दौरान हुई सभा में जिला प्रशासन पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. दरअसल, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जयंती समारोह में आजम खान ने जिला प्रशासन पर कई आरोप लगाए. उन्होंने जिला प्रशासन को यहां कम वोटिंग के लिए जिम्मेदार बताया. आजम खान ने प्रशासन पर एक वर्ग विशेष के साथ मारपीट और लूट करने का भी आरोप लगाया.

आजम खान ने कहा, “यहां जिला प्रशासन ने लोगों को वोट नहीं देने जाने की धमकी दी.” उन्होंने कहा, पूरे भारत में रामपुर अकेला ऐसा बदनसीब शहर है जहां सिर्फ एक वर्ग के लोगों का वोट न पड़े इसके लिए उन पर कहर बरपाया गया, दुकानें तोड़ दी गईं और सामान लूट लिए गए.” इस बयान को प्रशासन ने आचार संहिता का उल्लंघन माना है.

आजम खान के बयान को लेकर जिलाधिकारी सलोनी अग्रवाल ने कहा कि आजम का बयान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. उन्होंने कहा कि आचार संहिता उल्लंघन के मामले में आजम खान पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. जिलाधिकारी ने कहा कि मुकदमे में तीन लोगों के नाम हैं इसमें- आजम खान, कार्यक्रम के आयोजक जयप्रकाश सागर और वक्ता राधेश्याम राही हैं. बता दें कि जिले में लोकसभा चुनाव में आचार संहिता उल्लंघन के सबसे अधिक मुकदमे आजम खान के खिलाफ दर्ज हैं. आजम खान के खिलाफ अब तक 14 मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं.

Related Articles