निदा खान और फरहत नकवी के खिलाफ एक और फतवा जारी, चोटी काटने वाले को 11,786 रुपये देने का ऐलान

बरेली: उत्तर प्रदेश में हलाला और तीन तलाक जैसी मुस्लिम कुरीतियों के खिलाफ खुलकर आवाज बुलंद करने वाली निदा खान और फरहत नकवी के खिलाफ एक और फतवा जारी हो गया है। एक मुस्लिम धर्म गुरू ने फतवा जारी करते हुए कहा कि दोनों महिलाओं को देश छोड़ने का फरमान सुनाया गया है। इसके लिए उन्हें तीन दिन का मुहलत देने की बात कही गई है। यही नहीं इस ऐलान में ये भी कहा गया है कि दोनों ही मुस्लिम महिलाओं की चोटी काट कर देने और उन्हें पत्थर मारने वाले को इनाम भी दिया जाएगा।

महिलाओं की चोटी काटने वाले को इनाम की घोषणा

बरेली का चर्चित निदा खान प्रकरण पहले ही देश भर में चर्चित है। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है। देश भर की निगाहें अब इस केस पर टिकी हुई हैं। इस मामले में निदा पीएम से भी मिलने वाली हैं। इस बीच दरगाह आला हजरत से निदा के खिलाफ फतवा जारी होने के बाद अब एक और तालीबानी फरमान जारी हुआ है। ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोईन सिद्दकी नूरी की तरफ से निदा खान और फरहत नकवी की चोटी काटने वाले को 11,786 रुपए इनाम की घोषणा की गई है। कट्टरपंथियों ने दोनों महिलाओं के तीन दिन के अंदर देश छोड़ने की बात कही है।

संगठन ने मस्जिदों में बांटे पर्चे

ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना काउंसिल की तरफ से बरेली शहर की तमाम मस्जिदों में पर्चे भी बंटवाए गये हैं। इसमें लिखा गया है कि दोनों महिलाएं इस्लाम से खारिज हैं, देश द्रोही हैं, इन दोनों को तीन दिन देश के अंदर देश छोड़ने का समय दिया जा रहा है। अगर महिलाओं ने ऐसा नहीं किया तो इनकी चोटियां काट कर पत्थर मार-मार कर देश से बाहर निकाल दिया जाएगा और ऐसा करने वाले किसी भी व्यक्ति को 11 हजार 786 रुपए बतौर इनाम दिया जाएगा। इसके अलावा मोइन सिद्दकी ने दोनों महिलाओं के चरित्र पर भी गंदी टिप्पणी की है।

पीड़त निदा ने पीएम से लगाई न्याय की गुहार

वहीं इस ऐलान की सूचना लगते ही दोनों ही महिलाओं की नींद उड़ गई है और इस शर्मनाक हरकत के खिलाफ निदा खान ने पुलिस में शिकायत भी की है, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। वहीं निदा ने तीन तलाक और हलाला के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्याय की गुहार लगाई है।

Related Articles