अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत को एक और कामयाबी, ब्राह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया

0

भुवनेश्वर। भारत ने सोमवार को सफलतापूर्वक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्राह्मोस का परीक्षण किया। मिसाइल सुबह 10.18 बजे चांदीपुर के बालासोर जिले में स्थित परीक्षण केंद्र से लॉन्च की गई। यह परीक्षण ब्रह्मोस के जीवनकाल बढ़ाने के लिए है। यह परीक्षण इस मिसाइल की एक्सपायरी डेट को 10 साल से बढ़ाकर 15 साल करने की कवायद का हिस्सा है। ब्रह्मोस भारत और रूस के द्वारा विकसित की गई अब तक की सबसे आधुनिक प्रक्षेपास्त्र प्रणाली है और इसने भारत को मिसाइल तकनीक में अग्रणी देश बना दिया है।

ब्राह्मोस

बता दें कि ब्रह्मोस एयरोस्पेस भारत के रक्षा शोध और विकास संगठन (डीआरडीओ) व रूस के एनपीओएम ने संयुक्त रूप से इसका विकास किया है। यह मिसाइल ध्वनि की आवाज से भी तीन गुना अधिक रफ्तार से उड़ान भरती है। इस परीक्षण से सशस्त्र सेनाओं को अधिक समय के लिए मिसाइल मिल सकेगा।

रक्षा शोध व विकास संगठन (डीआरडीओ) का कहना है कि इस परीक्षण ने सभी मानकों को पूरा कर लिया है। डीआरडीओ के अधिकारी ने बताया कि इसके साथ भारत ने रक्षा क्षेत्र में एक और मील का पत्थर हासिल कर लिया है। ब्रह्मोस एयरोस्पेस भारत के डीआरडीओ व रूस के फेडरल स्टेट यूनिटरी एंटरप्राइज एनपीओएम का संयुक्त उद्यम है।

loading...
शेयर करें