‘हाउस ऑफ कॉमन्स’ में सम्मानित हुईं गायिका अनुराधा पौड़वाल ने संगीत को लेकर कहा कुछ ऐसा

मुंबई। संगीत और धर्मार्थ पहलों में योगदान के लिए ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमन्स में सम्मानित हुईं दिग्गज गायिका अनुराधा पौडवाल का कहना है कि एक कलाकार के संघर्ष को पुरस्कार सार्थक बनाते हैं। अनुराधा ने कहा कि संगीत उनका जीवन है।

गायिका ने कहा, “संगीत मेरा जीवन है और जब एक अप्रत्याशित स्थल से सम्मान मिलता है और वह भी आठ दशकों से प्रतिष्ठित हाउस ऑफ कॉमन्स से तो इससे सच में बेहद अच्छा महसूस होता है। ‘आशिकी’, ‘दिल’, ‘साजन’, ‘राम लखन’ जैसी सफल बॉलीवुड फिल्मों में अपनी आवाज देने वाली गायिका अनुराधा ने कहा, “मैंने संगीत प्रेमियों के लिए गाती हूं। उनके मिलने वाला प्यार और सम्मान मुझे गौरवांन्वित और सम्मानित महसूस कराता है। ये वे पल होते हैं, जिसमें हम जैसे कलाकारों को हमारा संघर्ष सार्थक महसूस होता है।”

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अनुराधा वर्तमान में ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया के दौरे पर हैं। उन्होंने कहा, “मैं अपने अगले गंतव्यों श्रीलंका और अमेरिका का इंतजार कर रही हूं। यह दौरा कुमार सानू के साथ है। उनके साथ मैंने काफी सम्मान और गायिकी के दौरान तालमेल साझा किया है। अपने संगीत जगत के कार्य के बारे में अनुराधा ने कहा कि वह उनके पास आदि शंकराचार्य के बारे में एक बहुत ही अच्छी परियोजना है।

Related Articles