16 साल पहले पिता ने लॉर्ड्स में खेलने का देखा था सपना, लेकिन बेटी ने तो इतिहास ही रच दिया

0

लंदन।  हर किसी के कुछ सपने होते हैं जिन्हें वो पूरा करना चाहता है, लेकिन कभी-कभी वो सिर्फ सपना बनकर ही रह जाता है।  फिर जिंदगी उस इंसान को अपने बच्चे के रूप में दूसरा मौका देती है।   जिनमे वह अपने सपने को दोबारा जीता है।

यह कहानी भी एक ऐसे ही पिता की है जो क्रिकेट के मक्का लॉर्ड्स में खेलना चाहता था। लेकिन जब वह नहीं खेल सका तो सोचा उसकी बेटी जरूर एक दिन इस मैदान पर खेलकर उसका सपना पूरा करेगी।  हुआ भी कुछ ऐसा ही 16 साल बाद बेटी ने न सिर्फ लॉर्ड्स में खेला बल्कि वो करके दिखाया जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी।

यह भी पढ़ें : BCCI को मिताली का नया सुझाव, बिग बैश लीग की तरह…

भारत की जीत लग रही थी तय

आईसीसी महिला वर्ल्डकप के फ़ाइनल मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड ने भारत को 9 रन से हराकर खिताब पर कब्जा किया। 229 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया आसानी से अपनी जीत की ओर बढ़ रही थी।  भारत का स्कोर 191 रनों पर तीन विकेट था।  क्रीज पर सलामी बल्लेबाज पूनम राउत 86 रन बनाकर डटी थी। जीत बिल्कुल तय लग रही थी।

यह भी पढ़ें : महिला वर्ल्ड कप 2017 : फाइनल में 9 रन से हारा…

अन्या श्रूबसोले ने 6 विकेट झटककर भारत से छीन ली जीत

लेकिन तभी इंग्लैंड की गेंदबाज अन्या श्रूबसोले ने मोर्चा संभाला और मैच पलट कर रख दिया।  43 ओवर की पांचवी गेंद पर पूनम को एलबीडब्लू आउट कर अन्या ने भारत को बड़ा झटका लगा।  अन्या ने इस मैच में करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस देते हुए 6 विकेट झटककर भारत के हाथों से मैच खींच लिया।  अपने आखिरी स्पेल में उन्होंने सिर्फ 12 रन देकर 5 विकेट चटकाए।  अन्या प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।

Anya Shrubsole

यह भी पढ़ें : #WWC17 : फाइनल मैच हारने के बावजूद कायम है कप्तान मिताली…

अन्या के पिता ने 16 साल पहले देखा था सपना

अन्या श्रूबसोले उसी पिता कि बेटी हैं जिनका सपना सिर्फ अपने बेटी को लॉर्ड्स में खलते हुए देखने का था।  अन्या ने पिता का सपना ही नहीं पूरा किया बल्कि इस मैदान पर इतिहास रच दिया।   वर्ल्डकप के फाइनल से दो दिन पहले अन्या के पिता इयान श्रूबसोले ने ट्विटर पर अपनी बेटी की तस्वीर शेयर की थी। वो तस्वीर 2001 की तब तब अन्या सिर्फ 9 साल की थी। 16 साल पुरानी इस तस्वीर के साथ अन्या ने लिखा था उनका सपना इस मैदान पर वनडे मैच खेलने का था।

यह भी पढ़ें : चैपल ने कोच विवाद को लेकर दिया बड़ा बयान, कुंबले को…

वर्ल्डकप जीतना एक सपने जैसा

अन्या श्रूबसोले ने अपने एक बयान में कहा कि पापा की ट्विटर प्रोफाइल को काफी तवज्जो मिली। उस समय अगर कोई मुझसे कहता कि मैं लॉर्ड्स में फाइनल खेलते हुए वर्ल्डकप जीतूंगी तो मैं बहुत जोर से हंसती। आप इस तरह की चीजें कभी नहीं सोचते हैं। उन्होंने कहा कि आप हमेशा एक सपना देखती हो की आप एक दिन खेलोगी, इससे ज्यादा कुछ नहीं। आप व्यक्तिगत प्रदर्शन को लेकर ज्यादा नहीं सोचते हैं। मायने यह रखता है कि टीम जीते, आप यही सोचते हैं।

Anya Shrubsole
अन्या ने माना कि विश्वकप जीतना एक सपना था, जिसने उस तस्वीर को और विशेष बना दिया है। अन्या ने कहा कि मैं उस तरह की खिलाड़ी हूं जिसका मानना है कि आपको इन सभी मैचों का लुत्फ उठाना चाहिए। आपको इस माहौल का पूरा लुत्फ उठाना चाहिए क्योंकि क्या पता यह पल दोबारा मिले या नहीं।

loading...
शेयर करें