इन पेड़ पौधों को लगाने से आपकी किस्मत, धन, वैभव में होगी वृद्धि

घर से नकारात्मक वायु को निकाल कर सकारात्मक वायु का आगमन होता है

हिन्दू धर्म में देवी देवताओं के साथ ही पेड़ पौधों की भी पूजा-अर्चना करने की मान्यता है। इनमे बहुत से ऐसे पेड़ पौधे है, जो हमें फल-फूल आदि भी प्रदान करते है। जिनमे से कुछ के नाम इस प्रकार है केला, पीपल, शमी, बरगद, नीम आदि पेड़ों की पूजा का एक अपना विशेष महत्त्व है। इन पेड़ो की पूजा से उनके प्रतिनिधि देव प्रसन्न होते हैं,और भक्तों की मनोकामनाओं को पूर्ण करते हैं। उनके संकटों का शमन करते हैं। ज्योतिष में भी पेड़-पौधों का बड़ा महत्व बताया गया है। यदि आप इन पौधों को लगाते हैं। इनको नियमित जल देते हैं,और देखभाल करते हैं तो इससे सुख और आरोग्य बढ़ता है। ग्रह दशा बेहतर होती है। स्थितियां आपके अनुकूल बनती हैं। बिगड़े काम बनने लगते हैं, सफलताओं के नए मार्ग खुलते हैं।

इस प्रकार आज हम पहचान कराते है कुछ ऐसे ही पेड़-पौधों के बारे में….

1. लाजवंती: लाजवंती का पौधा हमें घर के ईशान कोण में लगाना चाहिए। इस पौधे को आप गमले में भी लगा सकते है। इस पौधे को प्रतिदिन जल दें और सेवा करें, इससे आपकी कुंडली में राहु का दोष दूर होगा। आपके घर के धन-धान्य में वृद्धि होगी।

2. शमी: शमी का पौधा घर के पश्चिम दिशा में लगाएं और नियमित उसकी सेवा करने से भगवान शिव तो प्रसन्न होते ही हैं, शनिदेव और श्री गणेश की भी कृपा प्राप्त होती है। कहते है कि शनि देव की साढ़ेसाती या ढैय्या से कोई नहीं बच सकता है। यदि आप पर भी शनि का कोप चल रहा है, तो शमी की पूजा करके शनिदेव को प्रसन्न कर सकते हैं। ऐसा करने से शनिदेव के कोप से बचा जा सकता है।

3. तुलसी: तुलसी का पौधा घर के आंगन में पूरब दिशा में लगाएं। सुबह स्नान के बाद उसे जल अर्पित करें तथा शाम को दीपक जलाने से आपके परिवार में खुशियाँ आएँगी। सभी का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। ध्यान रहे कि मंगलवार और शनिवार के दिन तुलसी के पत्ते न तोड़ें। भगवान शिव को छोड़कर सभी देवों की पूजा में तुलसी का इस्तेमाल किया जाता है।

4. दौना: यदि आपके उपर कर्ज बढ़ता ही जा रहा है,या फिर आपके बच्चे या आप ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं,तो घर के पश्चिमदक्षिण कोण पर दौना का पौधा लगाएं। नियमित तौर पर उसकी देखभाल करें तथा उसे जल दें। ऐसा करने से आपको ऋण मुक्त होने में मदद मिलेगी और ज्ञान की प्राप्ति होगी।

5. पीपल : हिन्दू धर्म में पीपल को पेड़-पौधों में श्रेष्ठ स्थान प्राप्त है। इस पेड़ में ज्ञान की देवी सरस्वती, जगत के पालनहार भगवान विष्णु और शनिदेव का वास माना जाता है। यदि आप पीपल का पौधा घर के पूरब दिशा में लगाते हैं और मुख्य द्वार पर स्वास्तिक चिह्न बनाते हैं तो घर में सकारात्मक वायु का प्रवेश होगा और परिवार का कभी अनिष्ट नहीं होगा। पीपल का पौधा उत्तर दिशा में लगाने से धन-धान्य की वृद्धि होती है और पश्चिम दिशा में लगाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। दक्षिण दिशा यम का माना जाता है, इसलिए भूलवश भी इस दिशा में पीपल का पौधा न लगाएं।

6. दूर्वा: यदि आप भगवान गणेश को अर्पित की जाने वाली दुर्वा को अपने घर में या गमले में लगाते हैं,तो यह आपके भाग्य को बढ़ाती है। इसके लगाने और देखभाल करने से वंश की वृद्धि होती है। आपके पास धन की कभी कमी नहीं रहती है। कहा भी गया है कि जैसे-जैसे दूर्वा की बढ़ती है और उसके गांठ बढ़ते हैं, वैसे-वैसे व्यक्ति के धन-धान्य में वृद्धि होती है।

Related Articles