सावधान! भारी पड़ सकता है बैंक अकाउंट से लिंक अधार

0

लखनऊ। राज्‍य की राजधानी में हैकरों का जाल फैल रहा है। जहां पर शातिर हैकरों द्वारा बायोमेट्रिक में सेंध लगाकर ऑरिजनल फिंगर प्रिंट का क्लोन बनाया जा रहा था। जिसका पर्दाफाश किया गया है। यह गिरोह यूपी एसटीएफ के हत्थे चढ़ा। उत्‍तर प्रदेश की विशेष सुरक्षा में लगे एसटीएफ ने ऐसे 10 सदस्यीय गिरोह को कानपुर के बर्रा थाना इलाके से गिरफ्तार करने का दावा किया जा रहा है।

गिरफ्तार किये गये आरोपियों के पास से भारी मात्रा में कागज पर बने आर्टिफिशियल फिंगर प्रिंट, मोबाइल, स्कैनर और रेटिना स्कैनर के साथ ही भारी मात्रा में इलेक्ट्रॉनिक सामामन पकड़ा गया है। हैरानी की बात यह है कि जो आधार कार्ड गिरोह के माध्‍यम से बनाये जा रहे थे। वो एक दम असली की भाती के लग रहे थे।

यह भी पढ़े- ‘स्‍पेशल रूम’ की डिमांड कर फिर चर्चा में आई भाजपा विधायक अंगूरलता

यह पूरा मामला तब संज्ञान में आया जब पता चला की फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनाये जा रहे है। मामले के तह तक जाने के लिए यूआईडीएआई के अधिकारियों ने फौरन लखनऊ के साइबर थाने में साइबर एक्ट के तहत अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।  मामला सुरक्षा में सेंध का था इसलिए यूपी एसटीएफ ने जांच को अपने हाथ में ले लिया। जिसके बाद जांच में इस गिरोह का पता चला।

loading...
शेयर करें