अर्जेंटीना के महान फुटबॉल खिलाड़ी ‘डिएगो माराडोना’ कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक

अर्जेंटीना के महान फुटबॉल खिलाड़ी ‘डिएगो माराडोना’ का बेला विस्ता में अंतिम संस्कार

ब्यूनस आयर्स: अर्जेंटीना के महान फुटबॉल खिलाड़ी डिएगो माराडोना को ब्यूनस आयर्स के समीप बेला विस्ता में सुपुर्द-ए-खाक यानि की अंतिम संस्कार कर दिया गया। माराडोना ने साल 1986 में अर्जेंटीना को फुटबॉल का विश्व कप जिताया था।

दिल का दौरा पड़ने से निधन

माराडोना का ब्यूनस आयर्स में बुधवार को अपने घर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। वह 60 वर्ष के थे। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने एक शोक संदेश में कहा कि उनके निधन से फुटबॉल की दुनिया को भारी क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि माराडोना असाधारण खिलाड़ी थे। उन्होंने अपने खेल से करोड़ों लोगों के दिलों को जीता। उनका आकस्मिक निधन फुटबॉल की दुनिया को भारी नुकसान है।

कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक

टीएन ब्रॉडकास्टर के अनुसार माराडोना को उसी कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया है जहां उनके माता-पिता को दफनाया गया था। माराडोना का बुधवार को 60 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। माराडोना की ब्रेन सर्जरी हुई थी और उनकी मौत से दो दिन पहले ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई थी।

हिंसा की घटनाएं

ब्यूनस आयर्स में गुरुवार को माराडोना को सुपुर्द-ए-खाक किये जाने के दौरान हिंसा की कुछ घटनाएं हुई और कम से कम नौ लोगों को हिरासत में लिया गया। इन घटनाओं में मीडियाकर्मियों समेत कुछ लोग घायल भी हुए हैं।

यह भी पढ़े:ठंड में कोरोना को मात, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए बचाव के उपाय की एडवाइजरी

यह भी पढ़े:देश में 10 लाख की आबादी पर कोरोना नमूनों की जांच का आंकड़ा 99 हजार के पार

Related Articles

Back to top button