सेना ने आतंकी बेटे को घेरा तो पिता को पड़ गया दिल का दौरा…

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सेना द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन आलआउट की वजह से आतंकियों के सिर पर मौत मंडरा रही है। सूबे  मुक्त करने में लगी सेना आतंकियों का सफाया करने में  लगी है। इसी क्रम में शोपियां कुंडलाम में भी सेना के निशाने पर 5-6 आतंकी आ गए हैं। ये सभी एक घर में छिपे हैं और सेना ने घर को चारों ओर से घेर रखा है। इस बारे में जब एक आतंकी के पिता को खबर मिली तो उन्हें दिल का दौरा पड़ गया।

मिली जानकारी के अनुसार, सेना ने घर में मौजूद जिन आतंकियों को घेर रखा है, उनमें  जीनत नइकू नाम का भी एक आतंकी है। जीनत नइकू के पिता मोहम्मद इशाक नइकू की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। जीनत नइकू दो महीने पहले ही आतंकी संगठन में शामिल हुआ था। लेकिन जब इस बात की जानकारी मोहम्मद इशाक को मिली कि उनका बेटा घेर लिया गया है तो उनका दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई।

आपको बता दें स्थानीय लोगों से मिली खुफिया जानकारी के बाद जवानों ने इलाके में घेराबंदी कर दी थी। इस घेराबंदी के बाद जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में दो जवान घायल हो गए हैं।

नैइकू मेहमदर गांव का रहने वाला है, जिसे दिल का दौरा पड़ने के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हे मृत घोषित कर दिया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी इस बात की पुष्टि नहीं की जा सकती है कि जीनत उस घर में है या नहीं जिसे सेना ने घेर रखा है। फिलहाल फायरिंग रुक चुकी है और सेना को इस बात का भरोसा है कि दो आतंकी ढेर हो गए हैं। पुलिस का कहना है कि मरने वालों की पुष्टि तभी की जा सकती है कि जब आतंकियों के शव बरामद कर लिए जाएं।

Related Articles