संस्कृत विषय से सिविल सेवा की तैयारी करने वाले छात्रों को निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था

लखनऊ: उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, लखनऊ के अध्यक्ष डॉ. वाचस्पति मिश्र ने संस्थान द्वारा संचालित समस्त गतिविधियों के विषय में जानकारी प्रदान की गयी तथा सिविल कोचिंग योजना पर विशेष बल देते हुए समस्त छात्रों को बताया कि संस्कृत विषय से सिविल सेवा की तैयारी करने वाले छात्रों को निःशुल्क कोचिंग तथा छात्रवृत्ति की व्यवस्था की गयी है।

ऑनलाइन माध्यम से संस्कृत संभाषण, त्रैमासिक पौरोहित्य, योग तथा ज्योतिष एवं वास्तु प्रशिक्षण शिविर का आयोजन सम्पूर्ण प्रदेश में किया जा रहा है। संस्थान के निदेशक, पवन कुमार द्वारा आये हुए समस्त वैदिक विद्वानों का सम्मान तथा आभार व्यक्त किया गया। उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, लखनऊ द्वारा आज संस्कृत सप्ताह का प्रारम्भ उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, लखनऊ के इन्दिरा नगर अध्यक्ष कार्यालय परिसर से सर्ववेदशाखास्वाध्याय पाठ के आयोजन से किया गया।

इस अवसर पर देश के जाने-माने वैदिक विद्वानों ने सर्ववेदशाखास्वाध्याय पाठ में भाग लिया। सर्ववेदशाखास्वाध्याय पाठ के अन्तर्गत विभिन्न शाखाओं के विद्वान इस पाठ में प्रतिभाग किया।

इस अवसर पर शुक्ल यजुर्वेद माध्यन्दिनीय शाखा के डॉ. हनुमान मिश्र, सहाचार्य वेद, लाल बहादुर शास्त्री, केन्द्रीय विश्वविद्यालय, नई दिल्ली, पशुपतिनाथ मिश्र, वाराणसी, श्याम शंकर द्विवेदी, लखनऊ, आचार्य गोविन्द प्रसाद शर्मा, शुक्लयजुर्वेद काण्व शाखा के चेतन शर्मा, वाराणसी, मोहन दूबे, वाराणसी, सामवेद कौथुम शाखा के सन्तोष कुमार महापात्र, होडल, हरियाणा, आशीष मिश्र, वाराणसी, सामवेद राणायनीय शाखा के डॉ. विजय शर्मा, वाराणसी तथा अविनाश पाण्डेय, वाराणसी ने वेदपाठ किया।

Related Articles