40 हजार रूपये रिश्वत लेते हुए दरोगा हुआ गिरफ्तार, डेढ़ लाख रुपए मुकदमे में एफआर के नाम पर माँगा

उत्तर प्रदेश: गोरखपुर सीएम सिटी में एक ऐसी घटना सामने आयी है जिसने हर किसी को हैरान कर दिया,बता दे की एक रिश्वत खोर दारोगा को एंटी करप्‍शन टीम ने घूस के 40 हजार रुपए घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. एंटी करप्‍शन टीम को युवक ने मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट (एफआर) लगाने के नाम पर डेढ़ लाख रुपए घूस की मांग कर रहा था. जब युवक को डेढ़ लाख रुपए देना नागवार गुजरा, तो उसने एंटी करप्‍शन टीम से मिलकर मामले की जानकारी दी. टीम ने पूर्व योजना के तहत दारोगा को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.एसएसपी एंटी करप्शन राजीव मल्होत्रा के निर्देशन में ये अभियान किया गया. इस कार्रवाई से पुलिस महकमे में भी हड़कंप मचा हुआ है. बेलघाट इलाके के तुरहा के रहने वाले अजय कुमार उर्फ मनोज की शिकायत पर एंटी करप्‍शन टीम ने गुरुवार की देर रात तुरहा चौकी पर तैनात चौकी इंचार्ज आशीष मिश्रा को कैण्‍ट इलाके के यातायात चौराहा के पास 40 हजार रुपए घूस लेते हुए गिरफ्तार कर लिया.एंटी करप्‍शन टीम के इंस्‍पेक्‍टर रामधारी मिश्रा ने बताया कि अजय कुमार की शिकायत पर ये कार्रवाई की गई है. उन्‍होंने बताया कि पट्टीदारी के विवाद में दर्ज हुए क्रास एफआईआर में अजय के पक्ष में फाइनल रिपोर्ट लगाकर मुकदमा खत्‍म करने के एवज में तुरहा चौकी पर तैनात दारोगा आशीष मिश्रा द्वारा डेढ़ लाख रुपए घूस की मांग की शिकायत की गई थी. पूर्व योजना के तहत टीम ने दारोगा आशीष मिश्रा को घूस के 40 हजार रुपए के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.मुकदमा खत्‍म करने के एवज में विवेचक दारोगा आशीष मिश्रा द्वारा घूस की मांग की जा रही थी. शिकायत के बाद टीम ने दारोगा आशीष मिश्रा को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. सीएम सिटी में लगातार घूस लेते गिरफ्तारी की ये तीसरी वारदात है. इसके पहले दो कर्मचारियों को रंगोहाथ गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है. एक मामले में जीडीए की महिला कर्मचारी को नक्‍शा पास करने के एवज में घूस लेते हुए रंगे हाथ टीम ने गिरफ्तार किया था|

Related Articles