डीडीसीए घोटाले में शामिल थे अरुण जेटली!

0

CWaJ80-UEAAfWqS (1)नई दिल्‍ली। आम आदमी पार्टी ने आज वित्‍त मंत्री अरुण जेटली को लेकर कुछ खुलासे किए। पार्टी ने आरोप लगाया कि डीडीसीए घोटाले में जेटली की भूमिका सबसे अहम है। आपको बता दें कि 1999 से 2013 तक जेटली डीडीसीए के अध्‍यक्ष रहे हैं।

पार्टी ने कहा कि केंद्र सरकार जेटली को बचाने की पूरी कोशिश कर रही है। उन्‍होंने चेन सांघी की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि इस रिपोर्ट से डीडीसीए में जेटली की संलिप्‍तता साफ तौर पर पता चलती है। उन्‍होंने जेटली पर आरोप लगाया कि जेटली के कार्यकाल के दौरान ही यह घोटाला हुआ। इसमें 141 करोड रूपए से एक स्‍टेडियम का निर्माण किया गया। पार्टी ने आरोप लगाया कि स्‍टेडियम के टेंडर बांटने में करोड़ो रुपए का घोटाला किया गया।

पार्टी ने आरोप लगाया कि डीडीसीए में पांच कं‍पनियों के जरिए इस घोटाले को अंजाम दिया गया। इन पांचों कंपनियों के डायरेक्‍टर और पते एक ही हैं। इसमें फर्जी बिल देकर पैसे की लेन-देन हुई। यह सबकुछ अरुण जेटली के कार्यकाल के दौरान ही घटित हुआ। पार्टी ने सवाल किया कि नरेंद्र बत्रा का जेटली से क्‍या रिश्‍ता है? आपको बता दें क‍ि नरेंद्र बत्रा डीडीसीए के कोषाध्‍यक्ष हैं।

पार्टी ने यहां की सलेक्‍शन कमेटी पर भी सवाल खड़े किए। पार्टी ने कहा कि डीडीसीए के कारण यहां गरीबों के बच्‍चे खेल नहीं पाते केवल अमीरों के बच्‍चों को ही मौका मिलता है। पार्टी ने कहा कि तीन कंपनियों को 1.55 करोड़ रुपए का लोन पास किया गया। वहीं 9 कंपनियों के नाम बड़े भुगतान किए गए। इन कंपनियों को दिए गए लोन पर आज तक कोई ठोस जवाब नहीं दिया गया।

loading...
शेयर करें