आसाराम ने बीमार पत्नी की देखभाल के लिए मांगी अस्थायी जमानत

अहमदाबाद: जेल में बंद प्रवचनकार आसाराम बापू (Asaram Bapu) ने गुरुवार को दुष्कर्म के आरोपों की सुनवाई कर रही गुजरात (Gujarat) की निचली अदालत के समक्ष अपनी बीमार पत्नी की देखभाल के वास्ते 30 दिन की अस्थायी जमानत याचिका दाखिल की। यह याचिका गांधीनगर (Gandhinagar) में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसएन सोलंकी (SN Solanki) की अदालत के समक्ष दाखिल की गई। अदालत ने याचिका की सुनवाई के लिए 30 जनवरी की तारीख तय की है।

बता दें कि 79 वर्षीय विवादास्पद प्रवचनकर्ता के खिलाफ बलात्कार के आरोप में गुजरात की राजधानी में सत्र अदालत के समक्ष सुनवाई चल रही है। जोकि 2013 से ही जेल में बंद है। आसाराम दुष्कर्म के ही एक अन्य मामले में आजीवन कारावास की सजा के तहत जोधपुर जेल में बंद है।

पत्नी की देखभाल के लिए दायर की याचिका

आसाराम बापू (Asaram Bapu) ने 77 वर्षीय पत्नी लक्ष्मी देवी की बीमारी और उनके ऑपरेशन के आधार पर 30 दिनों की जमानत का अनुरोध किया है। जमानत अर्जी के मुताबिक, अहमदाबाद के यूएन मेहता हार्ट अस्पताल में लक्ष्मी देवी का दिल का ऑपरेशन होना है और उनकी देखभाल के लिए कोई नहीं होने से लक्ष्मी देवी ने डॉक्टरों को सूचित किया है कि वह स्वयं ही एक फरवरी को अस्पताल में भर्ती हो जाएंगी। इसके मुताबिक, दिल के ऑपरेशन के दौरान और उसके बाद पत्नी की देखभाल के लिए आसाराम को जमानत की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: नमाज और चंदे पर ओवैसी ने दे डाला ऐसा बयान की मच गया बवाल

Related Articles