एश्ले वेस्टवुड ने रोनाल्डो के खेल क्षमता पर उठाये सवाल, कहा- पुर्तगाल को विश्व कप नहीं दिला पाएंगे

नई दिल्ली। इंग्लिश क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड की अकादमी के पूर्व खिलाड़ी और बेंगलुरू एफसी के पूर्व कोच एश्ले वेस्टवुड का मानना है कि रूस में जारी फीफा विश्व के पहले दो मैचों में चार गोल दागने के बावजूद पुर्तगाल के करिश्माई कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो अपनी टीम को खिताब नहीं दिला पाएंगे।

रोनाल्डो

पुर्तगाल ने टूर्नामेंट के 21वें संस्करण के अपने पहले मैच में खिताब की प्रबल दावेदार स्पेन के खिलाफ 3-3 से ड्रॉ खेला जबकि दूसरे मुकाबले में मोरक्को को 1-0 से मात दी। इन दोनों मैचों में रोनाल्डो ने गोल करते हुए खूब सुर्खियां बटोरीं।

वेस्टवुड ने आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में कहा, रोनाल्डो इस टूर्नामेंट में शानदार फॉर्म में हैं और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं लेकिन वह अपनी टीम को खिताब तक नहीं पहुंचा पाएंगे। उनकी टीम बहुत ज्यादा रक्षात्मक फुटबाल खेल रही है और वह अकेले अपने दम पर विश्व कप नहीं जीत सकते।

वेस्टवुड इंग्लैंड में ब्रेडफोर्ड और शेफील्ड वेन्सडे जैसे प्रतिष्ठित क्लब से भी खेल चुके हैं और उन्होंने यह माना कि एक इंग्लिश प्रशंसक के रूप में उन्हें इस विश्व कप में अपनी राष्ट्रीय टीम से खिताब जीतने की उम्मीद नहीं है।

वेस्टवुड ने कहा, दुर्भाग्य से एक प्रशंसक रूप में हम बड़े अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में इंग्लैंड की हार के आदी हो चुके हैं लेकिन इस बार हमें टीम से अधिक उम्मीदे नहीं है क्योंकि टीम में बहुत सारे युवा खिलाड़ी हैं। इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) दुनिया की सर्वश्रेष्ठ लीग है लेकिन उसमें करीब 35 प्रतिशत खिलाड़ी ही इंग्लैंड के हैं, जिससे राष्ट्रीय टीम के लिए खिलाड़ी चुनना मुश्किल हो जाता है। हालांकि, इस बार इंग्लैंड की मीडिया ने भी टीम पर अधिक दबाव नहीं बनाया है जो कि अभूतपूर्व है।

टीम में अधिक युवा खिलाड़ियों के होने के बावजूद इंग्लैंड ने टूर्नामेंट की शानदार शुरुआत करते हुए पहले मैच में ट्यूनीशिया को 2-1 से हराया।

वेस्टवुड ने कहा, इंग्लैंड ने विश्व कप की अच्छी शुरुआत की है और टूर्नामेंट में ब्राजील, जर्मनी एवं फ्रांस जैसी टीमें भी अभी तक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाई है। हमें टीम से अधिक उम्मीदें नहीं है लेकिन विश्व की टॉप टीमों ने टूर्नामेंट में अभी तक जिस प्रकार का प्रदर्शन किया है उससे इंग्लैंड के खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ा होगा और वह खिताब जीतने का प्रयास करेंगे।

वेस्टवुड ने इंग्लैंड के कप्तान और पहले मैच में दो गोल दागने वाले हैरी केन की भी प्रशंसा की।

वेस्टवुड ने कहा, हैरी केन पिछले कुछ समय से शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और अहम मौकों पर टीम के लिए गोल दाग रहे हैं। हैरी केन एक स्ट्राइकर के रूप में उतने तेज नहीं हैं लेकिन उन्हें ज्ञात है कि गोल करने के लिए बॉक्स में किस जगह पर मौजूद होना होता है।”

इंग्लैंड ग्रुप स्तर के अपने अगले मुकाबले में रविवार को पनामा से भिड़ेगी।

Related Articles