Assam Election 2021: ‘एक चायवाला आपके दर्द को नहीं समझेगा तो कौन समझेगा’

असम (Assam) में आगामी विधानसभा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चबुआ में जनसभा को संबोधित किया

चबुआ: असम (Assam) में आगामी विधानसभा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चबुआ में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुझे यह देखकर तकलीफ हुई कि इस देश की एक ऐसी पार्टी जो सबसे पुरानी पार्टी, जिसने इस देश पर 50-55 साल शासन किया। ऐसी कांग्रेस पार्टी आज भारत की चाय की पहचान को मिटाने वालों का खुलेआम समर्थन कर रही है।

टूलकिट मामला

असम में PM मोदी बोले कि आपने एक टूलकिट (Toolkit) की चर्चा सुनी होगी, इस टूलकिट में असम की चाय और हमारे ऋषि मुनियों द्वारा दिए गए योग को दुनिया में बदनाम करने की योजना तैयार की गई। ऐसी साजिश रचने वालों को कांग्रेस पार्टी समर्थन करे और असम में वोट मांगने की हिम्मत करे। कांग्रेस को हम माफ कर सकते हैं क्या?  कांग्रेस आज उस पार्टी के साथ गठबंधन के साथ मैदान में उतरी है जो असम की अस्मिता, असम की संस्कृति के लिए अपने आप में एक बहुत बड़ा खतरा है, बहुत बड़ा संकट है।

प्रधानमंत्री ने बोला कि ये (कांग्रेस) वही लोग हैं जिन्होंने चाय के बागानों में काम करने वाले हमारे भाई-बहनों पर कभी भी ध्यान नहीं दिया… असम के लोगों को इन लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है। एक चायवाला आपके दर्द को नहीं समझेगा तो कौन समझेगा। असम (Assam ) विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा (BJP) ने 17 उम्मीदवारों की सूची जारी की है।

असम में विधानसभा चुनाव 3 चरणों में होंगे- प्रथम चरण का मतदान- 27 मार्च को होगा, दूसरे चरण का मतदान- 1 अप्रैल और तीसरे चरण का मतदान -6 अप्रैल को होगा। चुनाव की मतगणना (Counting of votes) 2 मई को होगी।

कार्यकर्ताओं ने न्योछावर किया जीवन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के खड़गपुर (Kharagpur) में भी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आपका ये उत्साह साफ-साफ कह रहा है- बंगाल में इस बार भाजपा (BJP) सरकार। ये मैं क्यों कह रहा हूं क्योंकि बंगाल के उज्जवल भविष्य के लिए इस धरती पर हमारे लगभग 130 कार्यकर्ताओं ने अपना जीवन न्योछावर कर दिया ताकि बंगाल आबाद रहे।

यह भी पढ़ेNew zealand ने Bangladesh को पहले वनडे मैच में दी शिकस्त, ये खिलाड़ी बना हीरो

Related Articles