गंगा की गोद में विलीन हुए सियासत के ‘अटल भीष्म’, बेटी नमिता ने किया अस्थि विसर्जन

देहरादून। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां आज हरि के द्वार यानि कि हरिद्वार की हर की पौड़ी के गंगा में विलीन हो गई। राजनीति के अजातशत्रु की अस्थि कलश यात्रा में शामिल होने के लिए 200 बसों में 15000 बीजेपी कार्यकर्ता देहरादून से हरिद्वार पहुंच गए थे।आज हरिद्वार के हर की पौड़ी में वाजपेयी की बेटी नमिता ने किया उनकी अस्थियों की विसर्जन। विसर्जन मे तमाम भाजपा नेताओं समेत अन्य राज्यों के राजनेता मौजूद थे।

वाजपेयी की बेटी नमिता और पोती निहारिका आज सुबह स्मृति स्थल पूर्व प्रधानमंत्री के अस्थियों को एकत्रित किया था। अस्थि विसर्जन में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, अमित शाह, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित अन्य नेता शामिल थे।

ज्ञात होगा कि स्वतंत्र भारत के करिश्माई नेताओं में शामिल वाजपेयी का निधन वृहस्पतिवार, 16 अगस्त को 93 वर्ष की उम्र में हो गया था। नयी दिल्ली के राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर शुक्रवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।

 

Related Articles