ATM इस्तेमाल करते हैं तो पढ़ें

नयी दिल्ली। अगर कभी किसी ATM में ट्रांजेक्शन के दौरान गड़बड़ी होने पर आपका कार्ड मशीन में फंसे रहने का अनुभव रहा हो तो अब ऐसा नहीं होगा। ज्यादातर ग्राहकों के सामने इस प्रकार की दिक्कतें कई बार आयी जिसमें उनका ATM कार्ड तकनीकी या अन्य कारणों के चलते मशीन में ही फंसा रह गया। जिससे न केवल उन्हें आर्थिक बल्कि मानसिक परेशानी से भी दो चार होना पड़ा। इन सभी शिकायतों पर गौर करने के बाद आरबीआई ने इस दिशा में अहम पहल की है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के निर्देशों के बाद बैंकों ने एटीएम मशीनों में नया सिस्टम शुरू कर दिया है। नयी तकनीक के तहत एटीएम कार्ड अंदर जाते ही स्वीप होकर बाहर आ जाता है।

ये भी पढ़ें – एटीएम से होने वाले फर्जीवाड़े से ऐसे बचें

atm 2

ATM दो तरह के

ATM में दो तरह की मशीनें होती हैं। एक मशीन में तो सीधे कार्ड स्वैप करने की आजादी होती है, जिसमें कार्ड फंसता नहीं है। दूसरी तरह की मशीन में एटीएम कार्ड मशीन में जाता है। इसके बाद ट्रांजेक्शन की प्रक्रिया होती है। इसमें सबसे बड़ा खतरा यह था कि अगर जरा भी देरी हुई तो कार्ड भीतर फंस जाता था।

atm 3

रिजर्व बैंक के निर्देशों के बाद नई व्यवस्था

रिजर्व बैंक ने देशभर से आए फीडबैक के बाद सभी बैंकों को निर्देशित किया था कि एटीएम जाने वाले किसी भी ग्राहक का कार्ड मशीन में नहीं फंसना चाहिए। इस पर बैंकों ने नई व्यवस्था शुरू की है। अब ऐसी मशीनों में जैसे ही आप कार्ड लगाएंगे तो वह भीतर चला जाएगा। इसके तुरंत बाद स्वैप होकर बाहर आ जाएगा। इसके बाद आपको अपना पासवर्ड डालकर ट्रांजेक्शन करना होगा। इस दौरान अगर कोई गड़बड़ी हुई तो आपका कार्ड आपके हाथ में ही रहेगा। बैंकिंग गतिविधियों के जानकारों का कहना है कि जितनी भी एटीएम मशीनें ऐसी हैं, उन सभी जगहों पर यह प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button