बेटियों के साथ बढ़ा अत्याचार, क्या कर रही सरकार, यूपी की बेटी दरिंदगी की शिकार

मेरठ: यूपी में बेटियां कही से भी सुरक्षित नजर नही आ रही ही। एक बार फिर मेरठ में बारहवी कक्षा की छात्रा के साथ इस कदर दरिंदगी की गई कि अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझते हुए वह आखिरकार हार गई। मौत से पहले ही छात्रा की आंखों की रोशनी जा चुकी थी।

डॉक्टरों के मुताबिक, छात्रा के पूरे शरीर में इतना जहर फैल चुका था कि उसे बचाना मुश्किल पड़ गया था। वहीं पुलिस ने आरोपी सूरज की तलाश में चार टीमें गठित की हैं। उसके एक दोस्त को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस जल्द ही इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजेगी।

पुलिस के अनुसार छात्रा को बदहवास हालत में ई-रिक्शा में छोड़कर उसका दोस्त सूरज वहां स फरार हो गया था। शुक्रवार को आधी रात को ई-रिक्शा चालक को हिरासत में लेकर पुलिस ने यह दावा किया है। सूरज की फोटो चालक को दिखाकर उसकी पहचान कराई गई। चार घंटे सूरज ने छात्रा को कहां रखा पुलिस इसकी जांच में जुटी

बेगमपुल के पास नामचीन स्कूल में परीक्षा देने के बाद छात्रा के साथ सूरज सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दिया था। सूरज ने ई-रिक्शा चालक के मोबाइल से छात्रा के पिता को कॉल करके कहा कि उनकी बेटी गढ़ रोड स्थित गांधी आश्रम चौराहे पर पड़ी मिली है। इसके बाद ई-रिक्शा चालक छात्रा को बदहवास हालत में उसके घर पर छोड़कर लापता हो गया था।

उधर, पुलिस के मुताबिक चालक ने बताया कि एक युवक बदहवास हालत में छात्रा को लेकर तेजगढ़ी चौराहे पर मिला था। 20 रुपये देकर कुटी चौराहे पर छोड़ने को कहा था। जैसे ही कुटी चौराहे पर छात्रा के घर के पास पहुंचा, तभी युवक रिक्शा से कूदकर वहां से भाग गया। पुलिस का दावा है कि छात्रा को चार घंटे सूरज ने अपने पास रखा।

 

Related Articles