अमेरिकी दूतावास पर हमला, इस संगठन ने ली जिम्मेदारी

इराक की राजधानी बगदाद ( Baghdad ) में  ग्रीन जोन एरिया में स्थित अमेरिकी दूतावास ( American embassy ) पर तीन रॉकेट दागे गए।

नई दिल्ली: इराक की राजधानी बगदाद ( Baghdad ) में  ग्रीन जोन एरिया में स्थित अमेरिकी दूतावास ( American embassy ) पर तीन रॉकेट दागे गए। इनमें से एक ग्रीन जोन के अंदर गिरा लेकिन बाकी दोनों पास के रिहायशी इलाके में गिरे। कई महीनों से इराक में शांति चल रही थी। अचानक एक हप्ते में हीपश्चिमी कूटनीतिक, सैन्य  हाई-सिक्यॉरिटी (Military high-security )  ठिकाने पर तीसरा हमला है।

ईरान समर्थित हमला

ईराकी सेना के द्वारा खबर है कि इस राकेट हमले में किसी की भी जान नही गई है। ग्रीन जोन के अंदर कई सरकारी ईमारते और विदेशी दुतावास हैं। यह इलाका हसेशा उन राकेट के टारगेट पर होता है। अमेरिका और ईराक के अधिकारियों का कहना है कि यह हमला ईरान समर्थित हमला था। इराकी सिक्यॉरिटी सर्विस ( Iraqi Security Service ) की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कम से कम दो रॉकेट ग्रीन जोन में गिरे हैं, जहां अमेरिकी और दूसरे विदेशी दूतावास हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरीका में फटा एप्पल का एयरपॉड, एक शख्स बचा बाल-बाल

एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि कम से कम एक रॉकेट ने इराक के नेशनल सिक्यॉरिटी सर्विस को अमेरिकी डिप्लोमैटिक मिशन ( American Diplomatic Mission ) को निशाना बनाया। अन्य रॉकेट्स पास के रिहायशी इलाकों में गिरे हैं। एक सप्ताह पहले ही अरबिल एयरपोर्ट ( Arbil Airport ) पर मिलिट्री कॉम्पेल्कस को एक दर्जन रॉकेट्स दागे गए थे। यहां विदेशी सैनिक रहते हैं जो अमेरिका की अगुआई में 2014 से जिहादियों के खिलाफ जंग में इराक की मदद कर रहे हैं। इस घटना में दो लोग मारे गए थे। इनमें से एक विदेशी ठेकेदार और एक सिविलियन शामिल था।

आपको बता दि राकेट देर रात इरबिल शहर से दागे गए थे। इस रॉकेट हमले की जिम्‍मेदारी शिया विद्रोही गुट अवलिया अल-डैम या खून के रखवाले संगठन ने ली है।

यह भी पढ़ें: श्रीलंका ने इमरान खान के मंसूबे पर फेरा पानी, भारत से बनाना चाहता है अच्छा संबंध

 

Related Articles

Back to top button