एयू स्माल फाइनेंस बैंक को दूसरी तिमाही में कोरोड़ो का लाभ, जमाराशि 45 फीसदी बढ़ी

लखनऊ: कोरोना महामारी के बाद से अर्थव्यवस्था खुलने के साथ ही एयू बैंक ने सबसे मज़बूत तिमाही नतीजे दिए हैं। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जहां बैंक के सकल गैर निष्प्रयोज्य संपत्त्तियों (GNPA) अनुपात में तिमाही दर तिमाही 115 बेसिस पॉइंट की गिरावट दर्ज की गयी हैं वहीं साल दर साल जमाराशि में 45 फीसदी की वृद्धि हुयी है। दूसरी तिमाही में बैंक का शुद्ध लाभ 42 फीसदी बढ़कर 279 करोड़ रुपये हो गया है।

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड के निदेशक मंडल की बैठक में सितंबर 30, 2021 को समाप्त हुए तिमाही के लिए लेखापरीक्षित वित्तीय नतीजों को मंजूरी दी गई है। वित्त वर्ष 2022 दूसरी तिमाही या वित्त वर्ष 2022 की पहली छमाही की प्रमुख विशेषताएं में शुद्ध लाभ में बढ़त शामिल है। साल दर साल निधि की लागत 89 बेसिस पॉइंट्स की गिरावट के साथ 6.2 फीसदी रही है जबकि वित्त वर्ष 2022 की पहली छमाही के लिए नेट इंटरेस्ट मार्जिन 6 फीसदी रहा है।

साल दर साल कुल जमाराशि 45 फीसदी से बढ़कर रु 39,034 करोड़ हो गई, जिसमें से रु 26,123 करोड़ मीयादी जमा है। 30 सितंबर 2021 को कासा (CASA) अनुपात बढ़कर 30.3 फीसदी हो गया जबकि 30 सितंबर 2020 को यह 19.8 फीसदी था।

वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही तक एयू बैंक ने 49,000 से अधिक क्रेडिट कार्ड जारी किए हैं और अपनी रेंज के क्रेडिट कार्ड को लॉन्च करने वाली यह पहली स्मॉल फायनांस बैंक (SFB) बन गई है। लॉन्च किए जाने के समय से देश के 150 से ज़्यादा ज़िलों में कुल जारी किए गए क्रेडिट कार्ड में से, 55 फीसदी ग्राहक ऐसे हैं जो इसका पहली बार उपयोग करेंगे।

बैंक के ग्रॉस एनपीए 3.2 फीसदी पर और नेट एनपीए 1.7 फीसदी पर रहने के साथ परिसंपत्ति गुणवत्ता में महत्वपूर्ण रुप से सुधार हुआ है। कामकाज और प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए संजय अग्रवाल, एमडी एवं सीईओ, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक ने कहा, परिचालन वातावरण, उधारकर्ता से जुड़ाव और नकदी प्रवाह और कुल मिलाकर प्रणाली पर विश्वास में महत्वपूर्ण सुधार के साथ वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही ज़्यादातर मानदंड़ों में एक बहुत ही उल्लेखनीय तिमाही रही है।

Related Articles