IPL
IPL

Axis bank : एनपीए में आये उछाल के साथ बढ़ा बैंक का प्रॉफिट

नई दिल्ली : कैपिटल  के लिहाज से देश के चौथे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक Axis bank ने आज अपने चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक इस तिमाही में बैंक को 2677 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है।

बैड लोन के लिए की जा रही प्रोविजनिंग में भारी गिरावट के कारण बैंक में मुनाफे में शानदार बढ़ोतरी देखने को मिली है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल Q4  में एक्सिस बैंक को 1,387.8 करोड रुपये का घाटा हुआ था।

Axis bank के प्रोवजनिंग  में हुई भारी कटौती

फिस्कल ईयर 2021 की चौथी तिमाही में कंपनी की इंट्रेस्ट बेस्ड इनकम में 11 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इस के बदौलत कंपनी को पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 748 करोड़ का मुनाफा हुआ है। इस दौरान कंपनी का नेट इंट्रेस्ट मार्जिन 3.56 फीसदी पर रहा है। इस कड़ी में एक्सिस बैंक ने बताया है कि चौथी तिमाही में एनुअल बेसिस पर बैंक के टोटल डिपॉजिट में नौ फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। इस दौरान बैंक का लोन टू डिपॉजिट रेशियो 88 फीसद रहा ।

बैंक के एसेट क्वालिटी पर नजर डालें तो Q4  में बैंक का ग्रॉस एनपीए पिछली तिमाही के 3.44 फीसदी से बढ़कर 3.70 फीसदी पर पहुंच गया है। जबकि नेट एनपीए में 0.3 बढ़त देखी गई। चौथी तिमाही में बैंक के प्रोवजनिंग में 1309 करोड़ की भारी कटौती देखने को मिली है। चौथी तिमाही में एनुअल बेस पर बैंक की लोन बुक मे बारह डीसाद की बढ़त नज़र आई है।

इस दौरान बैंक के नेट इंटरेस्ट मार्जिन में पिछले साल के मुकाबले आधे फीसद की उछाल दर्ज की गई। वहीं ग्रॉस स्लीपेज (नए एनपीए) पिछले साल के चौथी तिमाही के 7,993 करोड़ रुपये से घटकर 5,285 करोड़ हो गया है।

यह भी पढ़ें : रायबरेली में हुए फ़्रॉड में आया OLX का नाम, कीमत चुकाने के बाद भी नहीं मिली बाइक

Related Articles

Back to top button