एक्सिस बैंक ने अपनी पॉलिसी में बदलाव कर LGBTQIA समुदाय को दी राहत

नई दिल्ली : प्राइवेट सेक्टर के एक्सिस बैंक ने काम करने की जगह में विविधताा और इक्विटी को बढावा देने के मकसद से LGBTQIA समुदाय के ग्राहकों और कर्मचारियों के लिए स्पेशल पॉलिसी और नियमों के एक चार्टर का ऐलान किया है।

LGBTQIA को लेकर ऐसा कदम उठाने वाला यह देश का पहला बैंक है

इस कड़ी में बैंक का कहना है कि इन नए नियमों के साथ एलजीबीटीक्यूआईए+ समुदाय के ग्राहक अपने पार्टनर को अपने बैंक अकाउंट में नॉमिनी बना सकते हैं। इस कड़ी में खबर के मुताबिक अब कस्टमर अपने होमो सेक्सुअल पार्टनर के साथ जॉइंट सेविंग और टर्म डिपॉजिट अकाउंट भी खोल सकेंगे। इस कड़ी में बैंक के कर्मचारी अपने किसी भी जेंडर या मैरिटल स्टेटस वाले लोग अपने पार्टनर को मेडिक्लेम लाभ के लिए जोड़ सकते हैं। वहीं बैंक के कर्मचारी को भी अपने जेंडर या फिर जेंडर एक्सप्रेशन के हिसाब से कपड़े पहनने की छूट मिलेगी।

इस तरह का कदम उठाने वाला यह देश का पहला बैंक है जिसने एलजीबीटीक्यूआईए+ समुदाय के कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए इस तरह के कदम उठाए हैं। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर 2018 में अपने ऐतिहासिक फैसले में दो वयस्कों के बीच आपसी समझौते से बने निजी तौर पर सभी सेक्सुअल रिलेशनशिप को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया था।

यह भी पढ़ें : IPPB और एलआईसी की साझेदारी से मिलेगा सस्ता होम लोन

 

Related Articles