चुनाव आयोग पर आजम खान ने लगाया पक्षपात का आरोप

एसपी नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान ने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई बीजेपी नेताओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की लेकिन मेरे बोलते ही उन्होंने आवाज दबा दी. आजम खान ने कहा “योगी जी ने कहा ‘मोदी की फौज है’, मुख्तार अब्बास नकवी ने भी यही बात कही, चुनाव आयोग ने कल्याण सिंह के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की, लेकिन जब मैंने कहा था कि हम बार्डर को अपने खून की आखिरी बूंद तक रक्षा करेंगे. चुनाव आयोग ने मेरी जीभ काट दी. यह कैसा न्याय है?”

बता दें कि आजम खान ने कहा था, ‘हमारे देश की सीमा की रक्षा के लिए हम अपने खून की एक-एक बूंद बहा देंगे.’ खान के इस बयान पर चुनाव आयोग ने नाराजगी जताई थी. चुनाव आयोग के इस रवैये पर प्रतिक्रिया देते हुए आजम खान ने कहा, ‘योगी जी ने कहा मोदी की फौज है. मुख्तार अब्बास नकवी ने भी यह कहा लेकिन चुनाव आयोग ने कुछ नहीं कहा, कोई कार्रवाई नहीं हुई. कल्याण सिंह के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं हुई.

गौरतलब है कि पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फिर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को चुनाव आयोग की तरफ से नोटिस मिला है. दोनों ही नेताओं ने भारतीय सेना को ‘मोदी की सेना’ कहकर संबोधित किया था.

मुख्तार अब्बास नकवी ने उत्तर प्रदेश के रामपुर में कहा कि मोदी की सेना तो आतंकवादियों को घर में घुसकर मार रही है. सीएम योगी ने कहा था कि मोदी जी की सेना ने आतंकियों को घर में घुसकर मारा है. जिसपर कई विपक्षी पार्टियों ने सवाल उठाया था.

आजम खान इस बार रामपुर सीट से एसपी-बीएसपी के गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. बीजेपी ने यहां से पूर्व एसपी सांसद जया प्रदा को मैदान में उतारा है.

Related Articles