योगी राज में आजम खान की मुश्किलें बढीं, अब चार मामलों में चलेंगे मुक़दमे

0

लखनऊ। पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान की मुश्किलें बढती नजर आ रही हैं। योगी सरकार चारो तरफ से उनपर शिकंजा कसने को तैयार है। इस बार आजम खान अपने जौहर यूनिवर्सिटी को लेकर फंसते नजर आ रहे हैं। दरअसल मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के लिए चकरोड और ग्राम समाज की जमीन लेने के मामले में राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश ने आजम खान के खिलाफ चार मुकदमे चलाने को मंजूरी दे दी है।

आजम खान

इस मामले की अगली सुनवाई 17 अप्रैल को होनी है।  लघु उद्योग भारती के जिलाध्यक्ष आकाश सक्सेना की शिकायर के बाद जौहर यूनिवर्सिटी के संस्थापक आज़म खान के खिलाफ़ चार मुकदमे चलाने की मंजूरी राजस्व विभाग ने दी है।

इस मामले के शिकायतकर्ता आकाश सक्सेना ने बताया कि सपा की सरकार में खान ने सभी नियमों को ताख परखते हुए अपने युवार्सिटी को तमाम लाभ पहुंचाए। इस में उन्होंने पहले तो यूनिवर्सिटी के अंदर आने वाली चकरोड को पहले एक्सचेंज किया, फिर जौहर यूनिवर्सिटी में शामिल किया।

इस बता की शिकायत में जिलाधिकारी से भी कर चुका हूँ। उसके बाद जिलाधिकारी ने जांच की और मेरे द्वारा लगाये आरोपों को सही पाया। जिलाधिकारी के माध्यम से राजस्व परिषद में मुकदमा दायर किया गया।  इसके बाद राजस्व परिषद द्वारा मुकदमा चलाने की अनुमति दी है।  अगली तारीख 17 अप्रैल पड़ी है। जल्द ही गरीबों को दी गई चकरोड उनको वापस की जाएगी।

दरअसल समाजवादी पार्टी सरकार के दौरान मंत्री रहे आजम खान ने अपने रुत्वे और पवार का इस्तेमाल करते हुए यूनिवर्सिटी में शामिल कर दिया था। जौहर यूनिवर्सिटी के लिए उत्तर प्रदेश ज़मीदारी विनाश एवम भूमि व्यवस्था अधिनियम के तहत जमीनों का एक्सचेंज हुआ था। अब इस मामले में उनकी मुसीबत बढती चली जा रही है।

loading...
शेयर करें