Azerbaijan की “विदेशी” ओलंपिक टीम ने फैंस को किया निराश

बाकू : टोक्यो में गोल्ड हासिल करने में नाकाम रहने के बाद Azerbaijan की ओलंपिक टीम से फैंस बेहद नाराज़ हैं। 1996 के अटलांटा ओलंपिक के बाद टोक्यो ओलंपिक अजरबैजान का सबसे खराब प्रदर्शन था।

Azerbaijan के ज़्यादातर खिलाड़ी किये गए हैं दूसरे मुल्कों से हायर

आप की जानकारी के लिए बताते चलें कि इस बार चवालीस मेंबर की अजरबैजान नेशनल टीम ने सिर्फ सात मेडल जीते हैं, जिसमे तीन सिल्वर और चार ब्रॉन्ज़ हैं। इस कड़ी में अगर इस बार की तुलना पिछले ओलिंपिक से जाये तो पिक्ली बार अज़रबैजान के छप्पन एथलीट्स ने रियो डी जनेरियो में 18 मेडल जीते थे। पांच बार के विश्व कराटे चैंपियन राफेल अघयेव से फैंस को सबसे ज्यादा उम्मीद थी कि वे गोल्ड ज़रूर जीतेंगी , लेकिन वह फाइनल में इटली के लुइगी बुसा से हार गए।

यह भी पढ़ें : कूल हिमाचल देश का Higher Education Hotspot बनने के लिए तैयार है, जानिए पूरी रिपोर्ट

असल में  लगभग आधा अज़रबैजानी टीम ही विदेशी थी  जो “राष्ट्रीयकृत एथलीट”, के रूप से जाने जाते हैं, इन्हें अजरबैजान की तरफ से खेलने के लिए अज़रबैजानी पासपोर्ट दिए गए और इसी बात को लेकर  फैंस बेहद नाराज़ हैं।

यह भी पढ़ें : पार्टियों को चयन के 48 घंटे के भीतर उम्मीदवारों के आपराधिक इतिहास को सार्वजनिक करें: HC

Related Articles