IPL
IPL

AIIMS में इलाज कराने वालों के लिए बुरी खबर, इतने दिनों तक बंद रहेगी ओपीडी

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली कोरोना की चौथी लहर की गिरफ्त में आ चुकी है। इस को ध्यान में रखते हुए देश के सबसे बड़े अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने बड़ा फैसला लिया है। एम्स (AIIMS) ने मंगलवार को रुटीन वॉक इन ओपीडी को बंद कर दिया है। हालांकि मरीज ऑनलाइन ओपीडी पंजीयन के माध्यम से एम्स में डॉक्टर को दिखा सकते हैं। इसके लिए प्रतिदिन सीमित संख्या मर लोगो को देखा जा सकता है। हर विभाग को एक दिन में मरीजों के पंजीयन की संख्या तय करनी होगी और रोगियों को एम्स बुलाया जा सकेगा।

एक महीने तक बंद ओपीडी

एम्स के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. डीके शर्मा ने मंगलवार को एक बयान जारी करते हुए बताया है नियमित रूप से चलने वाले ओपीडी में मरीजों के रजिस्ट्रेशन गुरुवार (8 अप्रैल) से अस्थायी रूप से बंद करने का फैसला लिया हैं। यह नियम लगभग एक महीने तक लागू रहेगा। इसके बाद अगले महीने यहां के हालातो को देख कर समीक्षा करने के बाद कुछ तय होगा। जारी किये गए निर्देश के मुताबिक, हर विभाग में रोज अधिकतम 50 मरीजों का ही पंजीकरण हो सकेगा। शाम को चलने वाले विशेष सुपर स्पेशलिटी क्लिनिक में भी ऑफलाइन पंजीकरण बंद कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें : आइये डालते हैं Bjp के चार दशक के इस सियासी सफर पर एक नज़र

नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान

कोरोना पर काबू पाने के लिए दिल्ली सरकार ने मंगलवार रात से नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। 30 अप्रैल तक लगाए गए नाइट कर्फ्यू के तहत रात 10 से लेकर सुबह पांच बजे तक लोगों को घर से निकलने पर मनाही होगी। हालांकि कुछ व्यवसायों से जुड़े लोगों को इसमें छूट दी गई है। आपातकालीन विभाग में इलाज के लिए आने वाले सभी मरीजों को एंटीजन की जांच अनिवार्य कर दी है। इसके अलावा अस्पताल के कोविड वार्ड में पहले ही तरह संक्रमित मरीजों के लिए बिस्तर आरक्षित रखे जाएंगे।

ये भी पढ़ें : यूपी के इस थाने में बढ़ी मिठास, पुलिस ने जब्त किए 186 किलो के Rasgulla

 

 

Related Articles

Back to top button