बघेल, चिन्नी सरकार देगी किसानों के परिजनों को 50 लाख रुपये

लखनऊ: छत्तीसगढ़ और पंजाब दोनों सरकारों ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मारे गए 4 किसानों और एक पत्रकार के परिवारों को 50-50 लाख रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की। कांग्रेस शासित दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री पार्टी नेता राहुल गांधी के साथ लखनऊ पहुंचे हैं, जहां से उनका इरादा पीड़ितों के परिवारों से मिलने लखीमपुर खीरी जाने का है।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि लखीमपुर हिंसा ने उन्हें 1919 में जलियांवाला बाग हत्याकांड की याद दिला दी। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने लोकतंत्र का “मजाक” बनाया है। उन्होंने लखनऊ में संवाददाताओं से कहा, “हमारी सरकार लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसानों और पत्रकार के परिवारों को 50-50 लाख रुपये देगी।”

इसी भावना को व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार भी किसानों के परिवारों और पत्रकार को 50 लाख रुपये देगी। लखीमपुर खीरी में रविवार की हिंसा में मारे गए 8 लोगों में से 4 किसान थे, जिन्हें कथित तौर पर UP के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के स्वागत के लिए इलाके में एक कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे वाहनों ने टक्कर मार दी थी।

यह भी पढ़ें Lakhimpur Kheri violence: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले अजय मिश्रा

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles