बहुजन जागरूकता अभियान, सामाजिक क्रांति से ही परिवर्तन सम्भव है: लक्ष्य

हरदोई: लक्ष्य की हरदोई टीम द्वारा बहुजन जागरूकता अभियान के तहत एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन जिला हरदोई के गांव तेरिया भवानीपुर में किया गया जिसमें गांव वासियों ने विशेषतौर से महिलाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। यहां यह बता दें कि सामाजिक परिवर्तन की मजबूत लहर के लिए लक्ष्य कमांडर्स समाज में निरन्तर जागरूकता अभियान चला रहें है और जिसका असर समाज में साफ दिखाई देने लगा है।

सामाजिक क्रांति से ही सामाजिक परिवर्तन सम्भव है अर्थात् ऐसा समाज जहाँ समानता ही समानता हो, किसी भी प्रकार का शोषण न हो, सभी नागरिकों को विकास के उचित व बराबर अवसर मिलते हों, किसी भी नागरिक का शोषण व उत्पीड़न न होता हो,लेकिन बहुजन समाज की स्थिति इसके बिलकुल विपरीत है अर्थात् जातियों की दलदल, शोषण, उत्पीड़न, भेदभाव व असमानता का बोलबाला, गरीबी, अशिक्षा, बेरोजगारी, मानवीय अधिकारों का सरेआम हनन, विकास के अवसर के नाम पर ढोंग।

ऐसे समाज के लोगों की आर्थिक व सामाजिक स्थिति का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है और ऐसी स्थिति का फायदा समाज के स्वार्थी व चालक लोग या यूँ कहे कि दूषित मानशिकता वाले लोगों के गुलाम (स्वार्थी नेता) भी उठाते है अर्थात् वे भी उनकी सवारी करते है। यह बात लखनऊ से आई लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या ने कही।

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि ऐसी स्थिति के बदलाव को ही सामाजिक परिवर्तन कहते है जो सामाजिक क्रांति से ही संभव है और सामाजिक क्रांति निरन्तर सामाजिक जागरूकता से ही संभव है इसीलिए लक्ष्य कमांडर्स बहुजन समाज में निरन्तर जागरूकता अभियान चला रहें है।

इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, रश्मि गौतम, विमलेश चौधरी, कंचन नैना, रेखा गौतम, सुशीला गौतम, कमला गौतम, ललिता गौतम, सृष्टि गौतम,शिवकली, लक्ष्य युथ कमांडर राहुल बौद्ध, कुलदीप बौद्ध, ए के आनन्द, राज किशोर गौतम, हरीश चंद्र गौतम, संदीप कुमार,भैया लाल गौतम, राम भजन, डॉ अक्षय कुमार गौतम, रमाकांत गौतम, ई. रजनी कांत, दीनदयाल गौतम, सत्तीदीन, ध्यान दाह, कबीर दास, रामवीर, सत्यपाल, सरजू प्रसाद, सिपाही लाल, नवाब भारती ने हिस्सा लिया।

Related Articles