CNBC की उम्मीद से बेहतर रही बजाज फाइनेंस की Q4 परफॉरमेंस

मुंबई : नॉन बैंकिंग सेक्टर की फाइनेंस कंपनी बजाज फाइनेंस ने मार्च तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने अपनी शानदार परफॉरमेंस से Q4  में 1,347 करोड़ रुपए कमाए।

इस मसले के जानकारों के मुताबिक Q4 में हुए 42 फीसदी मुनाफे की वजह लोन लॉस प्रोविजन में आई कमी है। और इसी के बदौलत कंपनी का मुनाफा बढ़ा है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी का प्रॉफिट 948.1 करोड़ रुपए था। जो इस साल बढ़कर 1,347 करोड़ रुपए हो गया है।

CNBC के अनुमान से ज़्यादा का हुआ प्रॉफिट, एनपीए भी घटा

रिपोर्ट के मुताबिक 2020 के Q4 के मुकाबले मार्च तिमाही में कंपनी की नेट इंटरेस्ट इनकम में पच्चीस करोड़ की कमी आई है। बजाज फाइनेंस के नतीजे एनालिस्ट्स के उम्मीद से बेहतर आए हैं। CNBC के पोल के मुताबिक, एनालिस्ट्स को उम्मीद थी कि चौथी तिमाही में कंपनी का प्रॉफिट 1,311.2 करोड़ रुपए रह सकता है। इस दौरान नेट इंटरेस्ट इनकम 4.438.4 करोड़ रुपए रहने की उम्मीद जताई गई थी।

फिस्कल ईयर 2021 की चौथी तिमाही में कंपनी का लोन लॉस और प्रोविजनिंग का खर्च 1231 करोड़ रुपए रहा जिससे प्रॉफिट को सपोर्ट मिला। एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी का यह खर्च 1,954 करोड़ रुपए था। नतीजे जारी करने के बाद दिए अपने बयान में कंपनी ने  कहा कि इस तिमाही 1530 करोड़ रुपए का स्ट्रेस लोन राइट ऑफ किया है। जिसके बाद  कंपनी का ग्रॉस एनपीए घटकर 1.79 फीसदी हो गया है।

नतीजों से खुश होकर बजाज फाइनेंस के बोर्ड ने फिस्कल ईयर 2021 के लिए 2 रुपए फेस वैल्यू वाले शेयर पर 10 रुपए शेयर डिविडेंड का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें : Britannia ने जारी किये Q4 के नतीजे, वॉल्यूम बढ़ा लेकिन लेकिन मुनाफे में आई गिरावट

 

 

Related Articles

Back to top button