आंखों में बस गई मस्तानी, दिल में उतर गया बाजीराव

0

फिल्म: बाजीराव मस्तानी

डायरेक्टर: संजय लीला भंसाली

स्टार कास्ट: रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा, तनवी आजमी, मिलिंद सोमन, महेश मांजरेकर, संजय मिश्रा, आदित्य पंचोली, अनुजा गोखले

रेटिंग: 4 स्टार

bajirao-mastani-56738f84165b8_l

मुंबई। तमाम विरोध के बाद आखिरकार संजय लीला भंसाली की फिल्म बाजीराव मस्तानी आज रिलीज़ हो गई। साल 2003 में घोषणा के 12 साल बाद संजय लीला भंसाली बड़े पर्दे पर अपनी ड्रीम प्रोजेक्ट ‘बाजीराव मस्तानी’ लेकर आए हैं। भंसाली की यह फिल्म काफी लंबे समय से कभी कास्टिंग तो कभी दूसरे कारणों से ठंडे बस्ते में पड़ी रही। देखते है इतिहास पर बनी ये फिल्म क्या इतिहास रच पाएगी।

कहानी:

रणवीर सिंह ने ग्रेट मराठा वॉरियर पेशवा बाजीराव का किरदार निभाया है। बाजीराव एक बढ़िया योद्धा और ऐसा शासक है, जो अपना साम्राज्य फैलाना चाहता है। प्रियंका ने बाजीराव की पत्नी काशीबाई का जबकि, दीपिका ने बाजीराव की दूसरी पत्नी मस्तानी का रोल प्ले किया है। फिल्म में लव स्टोरी विशेष एंगल है। मस्तानी से मुलाकात के बाद बाजीराव उसका दीवाना हो जाता है। वह मस्तानी से शादी कर उसे पुणे ले कर आता है। बाजीराव की लाइफ में मस्तानी का आना शाही पेशवा फैमिली को पसंद नहीं आता। बाजीराव की पहली पत्नी काशीबाई भी मस्तानी के दखल को लेकर परेशान हैं। कहानी में बाजीराव-मस्तानी और काशीबाई को लेकर एक जबरदस्त लव ट्राएंगल बनता है। इसी में शाही फैमिली में शह-मात का खेल शुरू होता है। इन्हीं तीनों किरदारों पर पूरी फिल्म फोकस है।

स्क्रिप्ट और ट्रीटमेंट:

फिल्म ‘बाजीराव मस्तानी’ एक किताब ‘राउ’ पर आधारित है, जिस पर संजय लीला भंसाली ने प्रकाश कपाड़िया के साथ मिलकर खूब स्टडी किया है। प्रकाश ने ही फिल्म की कहानी और स्क्रीनप्ले की बागडोर संभाली है। संजय लीला भंसाली ने अपनी पिछली फिल्मों की तरह इस फिल्म को भी भव्य सेट, एक्टर्स की भीड़ और कहानी के साथ ही ग्रांड ट्रीटमेंट दिया है। स्क्रिप्ट में कई कड़ियां हैं, जो एक-दूसरे को जोड़ती हुई आगे बढ़ती हैं।

यह फिल्म जहां एक ओर मोहब्बत की मिसाल बनती है, वहीं बलिदान की भी परिचायक है। बाजीराव वीर योद्धा थे और उनके अंदर प्रेम का सागर भी था। बतौर डायरेक्टर भंसाली ने इन दोनों मोर्चों पर फिल्म को खूब कसा है। फिल्म की शूटिंग राजस्थान, महाराष्ट्र, और गुजरात में हुई है। रणभूमि इस फिल्म की जान है, लिहाजा युद्ध के सीक्वेंस पर मेहनत नजर आती है। स्टंटमैन शाम कौशल इसके लिए अलग से बधाई के पात्र हैं। कहानी रॉयल हो तो पहनावा अपने-आप खास हो ही जाता है। इस बात का अंजू मोदी ने बखूबी ख्याल रखा है।

एक्टिंग:

रणवीर सिंह अपने वही पुराने एनरजेटिक अंदाज में एक्टिंग करते दिखाई दिए। दीपिका पादुकोण ने भी उनका पूरा साथ दिया। प्रियंका चोपड़ा ने भी अपनी गजब की एक्टिंग से ऑडियंस का दिल जीतने में सफल रहीं। तन्वी आजमी और वैभव ततवावदी अपने-अपने अभिनय में गजब करते दिखाई दिए।

साथ ही महेश मांजरेकर, मिलिंद सोमन समेत आयुष टंडन और रजा मुराद का अभिनय देखने लायक रहा। आदित्य पंचोली और यतीन कार्येकर अपने-अपने किरदार की तह तक जाते नजर आए। बेंजामीन गिलाली, जिला खान सहित गणेश यादव व अमोल बावदेकर भी अपने अभिनय की दम पर काफी हद तक ऑडियंस का दिल जीतने में सफल रहे। स्वारंगी मराठे, विवेक घमंडे, नईम खान, राजीव मिश्रा और जेसन डिसूजा ने अपने रोल को बखूबी निभाया है।

म्यूजिक:

फिल्म के गाने पहले ही लोगों की जुबान पर चढ़ चुके हैं। ‘पिंगा’, ‘मस्तानी’, ‘गजानना’ के साथ ही अरि‍जीत की आवाज में ‘आयत’ सुनने में मीठा लगता हैं। फिल्म में ‘अलबेला सजन’ गाने को भी मराठी अंदाज में पेश किया गया है।

देखें या नहीं:

थियेटर में दिलचस्पी रखने वाले लोगों को ये फिल्म बहुत पसंद आएगी। ये उन लोगों के लिए बेहद अच्छी फिल्म साबित होगी, जो बड़े पर्दे पर भव्य सिनेमा देखना चाहते हैं। ‘बाहुबली’ की सक्सेस के बाद स्क्रीन पर शानदार भव्यता देखने वालों को ‘बाजीराव-मस्तानी’ निराश नहीं करेगी।

loading...
शेयर करें