IPL
IPL

Balakot Air Strike: फाइटर जेट ने PAK में मचाई थी तबाही, जानें क्या है ‘ऑपरेशन बंदर’

भारत आज 'बालाकोट एयर स्ट्राइक' की दूसरी वर्षगांठ मना रहा है। 26 फरवरी 2019 को बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पूरी तरह से कांप गया था

नई दिल्ली: भारत आज बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakot Air Strike) की दूसरी वर्षगांठ मना रहा है। 26 फरवरी 2019 को बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पूरी तरह से कांप गया था। 14 फरवरी 2019 को आतंकवादियों द्वारा पुलवामा में हमारे देश के 40 वीर जवानों के शहीद होने के बाद पूरे देश में आक्रोश था। जिसके ठिक 12 दिन बाद 26 फरवरी 2019 को सुबह 3.30 बजे भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 फाइटर प्लेन LOC के पार पाकिस्तान के इलाके में पहुंचकर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी शिविर को ध्वस्त कर दिया था।

‘आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के साहस और परिश्रम को सलाम किया। रक्षा मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, बालाकोट की सफलता ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने की भारत की दृढ़ इच्छाशक्ति को दिखाया है।

यह भी पढ़ेBharat Bandh Live Updates: राज्यों में ‘भारत बंद’ का असर, सड़क पर उतरे व्यापारी

ऑपरेशन बंदर

26 फरवरी 2019 को सुबह 3.30 बजे भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 फाइटर प्लेन LOC के पार पाकिस्तान के इलाके में पहुंचकर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी शिविर को ध्वस्त  किया तब वायु सेना के तत्कालीन कमांडर हरि कुमार ने वायु सेना प्रमुख को इसकी सफलता की जानकारी देने के लिए ‘बंदर’ शब्द का इस्तेमाल किया था।

जिसके बाद तत्कालीन एयर चीफ बीएस धनोआ (Air Chief BS Dhanoa) ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को फोन किया और कहा कि ‘बंदर मारा गया’। जिसका मतलब यह था कि पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप को भारतीय लड़ाकू जेट ने ध्वस्त कर दिया है। इस पूरे मिशन क नाम ‘ऑपरेशन बंदर’ (Operation Bandar) दिया गया था।

यह भी पढ़ेप्रदेश पुलिस (State Police) निद्रा की मुद्रा में और किशोरी को अगवा कर ले गया बदमाश

Related Articles

Back to top button