यूपी में DJ बजाने पर लगी रोक हटी, लेना होगा लाइसेंस

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश में डीजे बजने पर लगी रोक को हटा दिया है, इसके साथ ही SC ने लाइसेंस लेकर ही DJ बजाने को कहा है

लखनऊ: सुप्रीम कोर्ट (SC) ने उत्तर प्रदेश में डीजे (DJ) बजने पर लगी रोक को हटा दिया है। 20 अगस्त 2019 में हाईकोर्ट ने डीजे बजाने पर रोक लगाते हुए कहा था कि डीजे बजाने से ध्वनि प्रदूषण (Noise Pollution) होता है। एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। जिसकी वजह से यूपी में डीजे बजाने का प्रतिबंध अब पूरी तरह से हट गया है।

जानिए पूरा मामला

आपकी जानकारी के लिए यह बता दें कि 2019 में इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने यूपी में DJ  बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने आज यानी की 15 जुलाई को हाई कोर्ट के उसी आदेश को रद्द कर दिया है। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा, Allahabad High Court ने डीजे ऑपरेटर के पक्ष को सुने रोक का एकतरफा आदेश दे दिया गया था। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने UP के डीजे संचालकों को राहत देते हुए यह भी बोला है कि ध्वनि प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से पहले दिए गए निर्देशों का पालन होना चाहिए। इसके साथ ही SC ने लाइसेंस लेकर ही DJ बजाने को कहा है।

 

साल 2019 अगस्त में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रयागराज के हाशिमपुर इलाके के रहने वाले सुशील चंद्र श्रीवास्तव की याचिका पर ध्वनि प्रदूषण को लेकर सख्त आदेश दिया था। याचिकाकर्ता ने कावड़ यात्रा करने के दौरान अपने घर के पास लगाए गए एक LCD का मसला कोर्ट में रखा था। जिसमें यह बताया गया था कि सुबह 4 बजे से 12 बजे रात तक DJ बजता रहता है जिसके कारण उनकी 85 साल की माता को दिक्कत होती है।

यह भी पढ़ेकाशी ने धारण किया ‘रुद्राक्ष’, जापानी प्रधानमंत्री ने दी बधाई, जानें किसने दिया आइडिया

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles