एमपी विधानसभा के 5 किमी क्षेत्र में ट्रैक्टर-ट्राली व बैलगाड़ी पर लगा प्रतिबंध, भड़की कांग्रेस

भोपाल, नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों के खौफ का असर अब मध्य प्रदेश की सरकार पर भी दिख रहा है। मध्य प्रदेश में 28 दिसंबर से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र से पहले भोपाल के डीएम ने एक अनोखा आदेश लागू किया है। डीएम के इस आदेश को लेकर विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने कड़ी आलोचना की है।

इसे भी पढ़े:गांधी परिवार ने अमेठी को विकास से जानबूझकर दूर रखा: स्मृति

भोपाल के डीएम ने एक आदेश पारित किया है, जिसके अनुसार विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा भवन के 5 किमी तक के एरिया में भारी वाहनों, जैसे कि ट्रक, ट्रैक्टर – ट्राली, डंपर और टांगा व बैल गाड़ी के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। डीएम का यह आदेश विधानसभा सत्र के समापन यानी की 30 दिसंबर तक जारी रहेगा। डीएम के इस आदेश का कांग्रेस ने कड़ा विरोध जताया है। कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ” शिवराज सरकार द्वारा विधानसभा सत्र से पहले शहर में ट्रेक्टर, ट्रॉली और बैलगाड़ी पर प्रतिबंध लगाना किसान विरोधी मानसिकता दर्शाता है। सरकार के ऐसे तुग़लक़ी फ़रमान कांग्रेस को किसानों की आवाज बनने से कभी नहीं रोक पायेंगे। 28 दिसंबर को सभी विधायक ट्रेक्टर से ही विधानसभा जायेंगे।

बता दें कि एमपी कांग्रेस ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि किसानों के समर्थन में कांग्रेस के सभी विधायक और कार्यकर्ता ट्रैक्टर – ट्रालियों से ही विधानसभा जायेंगे। इसके अलावा कांग्रेसी नेता किसान संगठनों से भी बात कर रहे है, ताकि किसानों को राजधानी में प्रदर्शन कराया जाय। बताया जा रहा है कांग्रेसी नेताओं पर कार्यवाई के लिए ही सरकार ने यह आदेश लागू कराया है।

Related Articles

Back to top button